crime

    पुणे. शिक्षा का मायका रहे पुणे (Pune) में अपराध तेजी से बढ़ गए हैं। हालिया पर्वती इलाके में एक 17 वर्षीय किशोर की निर्मम हत्या (Murder) की गई। इस मामले में 6 आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। ‘खून का बदला खून’ से लेने के लिए इस वारदात को अंजाम दिए जाने की चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। हिरासत (Custody) में लिए गए आरोपियों में से एक आरोपी के भांजे की भी निर्ममता से हत्या की गई जिसमें उक्त 17 वर्षीय किशोर शामिल था। उसे भी उसी तरह से मारकर मामा ने अपने भांजे की हत्या का बदला लिया है। उसके एक हाथ का पंजा काटकर कुछ दूर फेंक दिया गया था, जबकि सिर को चकनाचूर कर दिया गया है।  

    पुणे शहर के पर्वती पायथा परिसर में रविवार की रात सौरभ वाघमारे (17) नामक किशोर की कोयते जैसे घातक हथियारों से हमला कर निर्ममता से हत्या कर दी गई। इस मामले के 6 आरोपियों को दत्तवाड़ी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनमें आकाश नावाडे, वृषभ दत्तात्रय रेणुसे और सचिन उर्फ़ दादा पवार को शामिल रहने के साथ ही अन्य तीन किशोर उम्र के लड़को को भी हिरासत में लिया गया है। इस मामले में दादासो बनसोडे (23) ने दत्तवाड़ी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आंबेगाव पठार क्षेत्र में अप्रैल महीने में पहलवान संग्राम लेकावले की हत्या हुई थी। इस मामले में भारती विद्यापीठ पुलिस ने तीन लड़कों को गिरफ्तार किया गया था।  जबकि सौरभ वाघमारे सहित अन्य चार नाबालिग लड़के इस मामले में हिरासत में लिए गए थे। 

    24 घंटे में पुलिस ने 6 आरोपियों को पकड़ लिया 

    पहलवान की हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों को जेल भेज दिया गया है, जबकि सौरभ व अन्य नाबालिगों को बाल सुधार गृह भेज दिया गया था। एक महीने के बाद सौरभ और अन्य दो नाबालिग को बाल सुधार गृह से छोड़ दिया गया था। बाहर आने के बाद सौरभ लगातार व्हाट्सअप पर खुन्नस निकालने वाला स्टेटस डाल रहा था। इससे यह विवाद और बढ़ गया था। इसके अनुसार आरोपियों ने उसकी हत्या की प्लानिंग की। इसके अनुसार रविवार की रात अपने मोबाइल के साथ जनता कॉलोनी के दो लोग पर्वती पायथा इलाके में गए। उन्होंने सौरभ को मोबाइल फोन लेने के बहाने से बुलाया। वह मोबाइल लेने के लिए वहां गया। उसे देखते ही आरोपियों ने गालीगलौज करते हुए उस पर घातक हथियारों से हमला कर दिया। जिस तरह से पहलवान संग्राम की हत्या हुई थी उसी तरह से सौरभ की हत्या कर दी गई। और उसका एक हाथ कलाई से काटकर अलग कर दी गई। दत्तवाड़ी पुलिस ने 24 घंटे के अंदर 6 आरोपियों को पकड़ लिया है।