arrest

पिंपरी. बैंक में जमा कराने के लिए दिए गए 60 हजार रुपए खुद का कर्ज उतारने के लिए खर्च करने वाले कामगार को पैसे के लिए मारपीट कर पैसे वापस करने का तकादा करने से अवसाद में आकर कामगार ने बिल्डिंग की 10वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली. यह घटना रहाटणी में घटी. इस मामले में दुकान मालिक सहित तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. 

मृत कामगार का नाम गणपत मंगाराम चौधरी (28) है. इस मामले में दुकान मालिक हनुमान कीर्तिराम चौधरी (40), गणेशराम बिडदाराम लोल (29) और पप्पूराम मुलाराम डोगीयाल (26) को गिरफ्तार किया गया है. इस मामले में शम्बुदेवी चौधरी के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है. मामले में दूर्गाराम मंगाराम चौधरी ने वाकड़ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है.

 2 वर्षों से कर रहा था काम

शिकायतकर्ता दुर्गाराम का भाई गणपत आरोपी हनुमान बालाजी ट्रेडर्स की दुकान में पिछले 2 वर्षों से काम कर रहा था. 12 नवंबर को हनुमान ने गणपत को दुकान के 60 हजार रुपए कैश दुकान के बैंक एकाउंट में जमा कराने के लिए दिए थे. लेकिन गणपत ने जोधपुर के एक सोनार की उधारी खत्म करने के लिए 49 हजार रुपए सोनार के बैंक एकाउंट में जमा करा दिए. शेष 11 हजार रुपए भाई के खाते में जमा करा दिया.  दुकान का पैसा अपना कर्ज चुकाने के लिए इस्तेमाल करने पर गणपत पर तकादा किया जा रहा था. इस बात से परेशान हो कर गणपत ने आत्महत्या कर ली. इस आत्महत्या के लिए जिम्मेदार मानते हुए पुलिस ने हनुमान, गणेशराम और पप्पू राम को गिरफ्तार कर लिया है. मामले की जांच जारी है.