PMC

    पुणे. पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) में सहायक आयुक्त पद पर के 22 सीटें मंजूर है। उसमें से 50% पद प्रमोशन के माध्यम से भरे जाते है। इसमें से 8 पद रिक्त है। इसके अनुसार, अब पुणे महानगरपालिका (PMC) के प्रशासन अधिकारी के तौर पर काम करनेवाले अधिकारियों को प्रमोशन (Promotion) दिया जाएगा। 

    ऐसे 4 अधिकारी अब सहायक आयुक्त यानी क्षेत्रीय अधिकारी बनेंगे। पुणे महानगरपालिका कमिश्नर (Pune Municipal Commissioner) द्वारा यह प्रस्ताव तैयार किया है। इसे विधि समिति के समक्ष रखा गया है। इस पर समिति की आगामी बैठक में चर्चा होगी। 

    विधि समिति के समक्ष प्रस्ताव 

    विधि समिति के प्रस्ताव के अनुसार, प्रशासन अधिकारियों को प्रमोशन देने को लेकर पदोन्नति समिति की बैठक आयोजित की गई थी। इसमें रिक्त पदों को लेकर चर्चा की गई। पीएमसी के संशोधित आकृति बंध के अनुसार सहायक आयुक्त पद पर के 22 सीटें मंजूर है। इसमें 50% यानी 11 पद प्रमोशन के अनुसार नियुक्ति करने है तो शेष पद 25% प्रतिनियुक्ति और 25% भर्ती के तहत नियुक्ति होनी है। पदोन्नति समिति ने 11 पदों का विचार कर नए 4 सीटें भरने के बारे में विचार किया क्योंकि 11 में से सिर्फ 3 पद भरे गए हैं। 8 पद अभी भी रिक्त है। पीएमसी संशोधित आकृतिबंध में इसका जिक्र किया गया है। इसके अनुसार समिति ने 4 पद भरने मंजूरी दे दी है। विधि समिति के प्रस्ताव के अनुसार, पदोन्नति समिति ने सेवा वरिष्ठता के अनुसार ये 4 प्रमोशन करने हरी झंडी दिखा दी है। प्रशासन अधिकारी का पद श्रेणी 2 में आता है, तो सहायक आयुक्त का पद श्रेणी 1 में आता है। इससे इन अधिकारियों में ख़ुशी की लहर है। इसके अनुसार पीएमसी कमिश्नर ने प्रस्ताव तैयार कर उसे मंजूरी के लिए विधि समिति के समक्ष रखा है। इस पर समिति की आगामी बैठक में चर्चा होगी। 

    कौन होंगे अधिकारी? 

    • राजेंद्र रेंगड़े 
    • ज्ञानदेव सुपे 
    • संदीप खलाटे 
    • शाम तारु 

    नगरसचिव की नियुक्ति करने में उदासीनता 

    पीएमसी के नगरसचिव सुनील पारखी सेवानिवृत्त हो चुके है। साथ ही उपनगरसचिव भी सेवानिवृत्त हो चुके है। उनकी जगह पर नया नगरसचिव नियुक्त करने को लेकर पीएमसी द्वारा गतिविधियां तेज की जा रही थी। इसके अनुसार इस पद भर्ती को लेकर विज्ञापन जारी किया जा चुका था। साथ ही यह नियुक्ति प्रक्रिया ऑनलाइन तरीके से मुहैया की गई थी। इच्छुक लोगों के लिए  11 जनवरी से 25 जनवरी तक ऑनलाइन आवेदन करने के लिए समय सीमा दी गई थी। इस कालावधि में पीएमसी के पास कुल 42 आवेदन प्राप्त हो चुके थे। इसमें ज्यादा तर आवेदन पीएमसी अधिकारी और कर्मियों के थे। इन आवेदनों की छटनी की गई थी। उसमे 29 लोग पात्र हो गए थे। पात्र उम्मीदवारों के 18 व 19 मार्च को साक्षात्कार लिए गए थे। सभी प्रक्रिया पूरी होने के बावजूद भी अब तक नगरसचिव की नियुक्ति नहीं की जा रही है। फ़िलहाल इस पद पर प्रभारी के तौर पर कामगार सलाहकार शिवाजी दौंडकर काम कर रहे है। एक तरफ दूसरे अधिकारियों का प्रमोशन किया जा रहा है, लेकिन इधर नगरसचिव नियुक्ति की सभी प्रक्रिया पूरी होने के बावजूद प्रस्ताव नहीं लाया जा रहा है। प्रशासन ने पहले इसको लेकर कोरोना की वजह दी थी, लेकिन अब दूसरे प्रस्ताव लाए जा रहे है तो नगरसचिव का क्यों नहीं, ऐसा सवाल उठाया जा रहा है।