Drown

पुणे. गन्ना कोल्हू पर मजदूरी करने गए 4 सगे भाइयों की वहां खेत के एक तालाब में डूबने से मौत हो गई. कोरोना की रोकथाम के लिए घोषित लॉकडाउन में काम न मिलने के कारण मूल उत्तर प्रदेश के बिजनौर निवासी ये भाई परिवार के साथ 13 जून को पुणे चले आये थे. यहां से यह परिवार श्रीगोन्दा तालुका के बाबर्डी में मजदूरी कर रहा था. मंगलवार की दोपहर तालाब में डूबने से चारों की मौत हो गई. इसकी सूचना मिलते ही पूरे परिवार में कोहराम मच गया. देर रात तक परिवार को सांत्वना देने वालों का तांता लगा रहा.

नगर के मोहल्ल इस्लाम नगर निवासी सलीम शेख नगर में बैंड बजाने का काम करता था. लॉकडाउन में काम न मिलने के कारण वह 13 जून को पुणे चला आया. यहां पुणे के पास ही एक गांव में अपने चारों बेटों शानू (18), फैसल (17), नवाजिश (15), दानिश (13) के साथ गन्ना कोल्हू पर मजदूरी करने लगा. सलीम के भाई समीम अहमद ने बताया कि मंगलवार दोपहर चारों भाई कोल्हू के नजदीक ही बह रही नदी में नहाने चले गए. गहरा पानी होने के कारण चारों डूब गए. आसपास के लोगों और पुलिस की मदद से उनकी तलाश की गई. कुछ घंटे बाद चारों भाइयों के शव बरामद हुए. देर शाम परिवार को घटना की सूचना मिली तो कोहराम मच गया. समीम ने बताया कि सलीम की पत्नी और एक छोटा बेटा नूरपुर में ही रहते हैं.