covid-19: Ministry of Health has issued revised guidelines for segregated habitat

पुणे. संक्रमण का प्रादुर्भाव रोकने के लिए शुरू किए गए ‘मेरा परिवार, मेरी जबाबदारी’ मुहिम को अच्छा रिस्पांस मिल रहा है. जिले में अब तक ग्राम पंचायत और नगरपालिका क्षेत्र में 4 लाख 75 हजार से अधिक लोगों की जांच की गई. यह जानकारी जिलाधिकारी डॉ. राजेश देशमुख ने दी.

मुहिम के तहत संक्रमित मरीजों के घर-घर जाकर सर्वेक्षण करने पर जोर दिया गया है. ऐसे में हर व्यक्ति की प्रत्यक्ष रूप से सर्वेक्षण करके उचित जानकारी प्राप्त करने में मदद मिलेगी. इसका समय पर पर्याप्त इलाज और कम समय में सुविधाएं उपलब्ध कराना ज्यादा आसान होगा.

कुल 3,180 टीमें तैयार की गई

सर्वेक्षण में जिला ग्राम पंचायत और नगरपालिका क्षेत्र में अब तक 4 लाख 75 हजार 944 लोगों का सर्वेक्षण किया जा चुका है. इनमें ग्राम पंचायत क्षेत्र में 3,51,513, जबकि नगरपालिका क्षेत्र में 2,24,431 लोग शामिल हैं. इन दोनों क्षेत्रों के लिए कुल 3,180 टीमें तैयार की गई हैं. इनमें ग्राम पंचायत के लिए 1,977, जबकि नगरपालिका के लिए 1,203 टीमें कार्यरत हैं. जिले के 46 ग्राम पंचायत क्षेत्र में 106 μजोन व 1,977 सेक्टर अधिकारी नियु्नत किए गए हैं. ग्राम पंचायत क्षेत्र में गुरुवार तक जांच किए गए लोगों में से 4,767 संदिग्ध मरीज मिले हैं. इनमें से 4,602 मरीजों की फ्लू क्लीनिक में जांच की गई. इनमें से 674 संक्रमित मरीज हैं. जबकि शेष मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई. पॉजिटिव 577 मरीजों को कोरोना सेंटर में भर्ती कराया गया है. जबकि 106 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है. जिले के इंदापुर, जुन्नर, मावल, शिरूर व बारामती इन पांच नगरपालिका 47 जोन व 1,203 सेक्टर अधिकारी नियुक्त किए गए हैं. जांच किए गए लोगों में से 973 संदिग्ध हैं, जबकि 931 लोगों की फ्लू क्लीनिक में जांच पॉजिटिव पाई गई है.

72 मरीजों को कोरोना सेंटर में भर्ती किया गया 

72 मरीजों को कोरोना सेंटर में भर्ती किया गया है. इस मुहिम के जरिए कोरोना के अधिक से अधिक मरीजों की तलाश कर उनके आवश्यकतानुसार इलाज किया जाएगा. लोगों की सहभागिता से यह मुहिम सफलतापूर्वक चलाकर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिला प्रशासन प्रयासरत है.