पुलिस की तत्परता से बची 4 माह की बच्ची की जान

पुणे. कोरोना संकट के तनावपूर्ण माहौल में जान की बाजी लगाकर संघर्ष कर रहे पुणे में दो पुलिस कॉन्स्टेबल्स ने 4 महीने की बच्ची को अपनी समझदारी से बचा लिया. पुणे के कोथरुड पुलिस स्टेशन के 2 कॉन्स्टेबल्स ने 4 महीने की बच्ची को बचा लिया, जो गुरुवार की रात चांदनी चौक में बारिश की वजह से अपने परिजनों से बिछड़ गई थी, लेकिन उसके रोने की आवाज लोगों को सुनाई पड़ी तो वे अलर्ट हो गए और तुरंत पुलिस को इस संबंध में जानकारी दी.

स्थानीय लोगों ने पुलिस को एक छोटी बच्ची के रोने की आवाज सुनने के बाद सूचना दी. इसकी जानकारी मिलने पर दो कॉन्स्टेबल्स सुरेश शिंदे और सुजय पवार बच्ची को बचाने के लिए वहां पहुंचे. दोनों कॉन्स्टेबल्स तुरंत बच्ची के पास पहुंचे और उसे वहां से सुरक्षित निकालकर कोथरुड पुलिस स्टेशन लेकर गए. बच्ची पुलिस कस्टडी में है. इसके बाद पुलिस बच्ची के घरवालों की तलाश में जुट गई. शुक्रवार को पुलिस को इसमें सफलता भी मिल गई. जांच में सामने आया कि पारिवारिक कलह के चलते बच्ची की मां ही उसे झाड़ियों में छोड़कर चली गई थी.

बच्ची की मां गिरफ्तार

कोथरूड थाने की वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक प्रतिभा जोशी ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज जांचने के आदेश दिए. इसमें बच्ची के चाचा को ढूंढ निकाला गया. उन्हें बुलवाकर पूछताछ की गई और बच्ची को उनके हवाले किया गया. इसके बाद बच्ची के पिता से पूछताछ की गई तब पता चला कि उसकी मां बार- बार चिढ़कर घर छोड़कर चली जाती है. वहीं बच्ची को झाड़ियों में छोड़कर चली गई, यह सामने आने के बाद पुलिस ने बच्ची की मां के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है. इस प्रकार से पुलिस की तत्परता और सूझबूझ के चलते अपने परिवार से बिछड़ी 4 माह की बच्ची अपने घरवालों के पास लौट सकी.