Number of corona sufferers in Pune division crosses 5.59 lakhs

  • अब तक 31.59 लाख से ज्यादा टेस्टिंग
  • 5.54 लाख संक्रमित

पुणे. कोरोना महामारी (Corona epidemic) के दूसरे दौर की आशंकाओं के बीच पुणे संभाग (पुणे, सातारा, सांगली, सोलापुर, कोल्हापुर) में संक्रमितों की संख्या साढ़े 5 लाख के पार हो गई है. वहीं 5.27 लाख से ज्यादा लोगों ने महामारी (epidemic) को मात दी है, जबकि कोरोना से मरनेवालों की संख्या 15 हजार पार कर गई है. 

संभाग में अब तक 31 लाख 59 हजार 987 लोगों की टेस्ट की गई है. उनमें से अब तक 5 लाख 54 हजार 398 संक्रमित पाए गए हैं. उनमें से 5 लाख 27 हजार 741 मरीजों ने महामारी को मात दी है. फिलहाल 11 हजार 204 मरीजों का इलाज जारी है.जबकि अब तक 15 हजार 453 मरीजों की मौत दर्ज हुई है.

पुणे जिले में मिले 668 मरीज

पुणे (Pune) के डिविजनल कमिश्नर सौरभ राव (Divisional Commissioner Saurabh Rao) के अनुसार, पुणे संभाग में रिकवरी रेट (Recovery rate) 95.19 व डेथ रेट (Death rate) 2.79 फीसदी दर्ज हुआ है. रविवार को संभाग में कुल 1044 संक्रमित कोरोना मुक्त हुए हैं. इसमें पुणे जिले के 671, सातारा (Satara)  जिले के 174, सोलापुर (Solapur) जिले के 160, सांगली (Sangli) जिले के 33 और कोल्हापुर (Kolhapur) जिले के 6 मरीज शामिल हैं.वहीं गत 24 घंटे के भीतर महामारी के 878 नए मरीज मिले हैं. अकेले पुणे जिले के 668 मरीजों के अलावा सातारा में 88, सोलापुर में 105, सांगली में 14 और कोल्हापुर जिले में तीन नए संक्रमित मरीज मिले हैं.

जिले में ठीक हुए 671 मरीज  

पुणे जिले में महामारी के संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े तीन लाख पार कर गया है. रविवार को 668 नए मरीज मिले जबकि नए से 671 मरीज इलाज के बाद अस्पताल से घर लौट गए. जिले में संक्रमितों का आंकड़ा संख्या 3 लाख 55 हजार 842 तक पहुंच गया है, जिसमें से 3 लाख 38 हजार 457 मरीज महामारी को मात देकर अस्पताल से घर लौटने में सफल रहे हैं. फिलहाल जिले के अस्पतालों में 8782 मरीजों इलाज जारी है.अब तक 8603 मरीजों की मौत दर्ज हुई है.जिले में कोरोना से मृत्यु का प्रमाण 2.42 फीसदी दर्ज हुआ है, जबकि रिकवरी रेट 95.11 फीसदी रह गया है. पुणे के बाद कोरोना के सर्वाधिक मरीज मिलनेवाले सातारा जिले में आज संक्रमितों का आंकड़ा 53 हजार 595 हो गया है.इसमें से 50 हजार 965 मरीज इलाज के बाद घर लौट गए हैं, जबकि 1747 मरीजों की मौत हो गई है.फिलहाल 883 मरीजों का इलाज जारी है.