येरवड़ा की अस्थायी जेल से फिर भागे 5 कैदी

  •  पुलिस महकमे में खलबली

पिंपरी/पुणे. कोरोना महामारी के संकटकाल में सबसे आगे रहकर महामारी की रोकथाम में जुटे पुलिस महकमे में तब खलबली मच गई, जब पुणे में येरवडा स्थित अस्थायी जेल से 5 कैदी फरार हो गए. ये पांचों आरोपी जेल की खिड़की की रॉड काटकर गुरुवार की सुबह फरार हो गए हैं. इस बारे में जेल प्रशासन ने येरवड़ा पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई है. 

इससे पहले भी इस अस्थायी जेल की बाथरूम की खिड़की तोड़कर दो कैदी भाग निकले थे, जिन्हें बाद में एक – एक कर पकड़ लिया गया था. इस तरह से कैदियों के जेल से भाग निकलने की लगातार हो रही घटनाओं से जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लग गया है.

पुणे जिले के निवासी हैं सभी कैदी

पुलिस के मुताबिक, जेल से भागे कैदियों में देवगन अजिनाथ चव्हाण, गणेश अजिनाथ चव्हाण, अक्षय कोंडाक्य चव्हाण, अंजिक्य उत्तम कांबले और सनी टाइरोन पिंटो का समावेश है. उनके भाग निकलने की खबर आग की तरह फैल गई. पुणे और पिंपरी चिंचवड़ के सभी पुलिस स्टेशनों में कैदियों की तस्वीरें भेजी गई हैं. सभी आरोपी पुणे जिले के ही रहने वाले हैं. इनमें से पहले तीन आरोपी मकोका (महाराष्ट्र संगठित अपराध प्रतिबंध कानून) के तहत गिरफ्तार किए गए थे. कैदियों के फरार होने की सूचना के बाद पुलिस ने आसपास के इलाकों में इनकी तलाश तेज कर दी है. पुलिस का कहना है कि वे सभी बहुत जल्द कानून की शिकंजे में होंगे.

कोरोना संक्रमण के कारण बनाई गई अस्थाई जेल

महामारी कोरोना की वजह से जेल में कैदियों को सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टन्टिंग) रखते हुए रखे जाने के लिए येरवडा जेल के पास के हॉस्टल में अस्थायी रूप से वैकल्पिक जेल व्यवस्था की गई है. जेल प्रशासन के अनुसार ये सभी नए कैदी थे, जिन्हें हाल ही में येरवड़ा जेल के पास एक हॉस्टल में बनाई गई अस्थायी जेल में रखा गया था. जहां से वह गुरुवार की सुबह भाग गए. जेल के इमारत नंबर 4 की पहली मंजिल पर स्थित रूम नंबर 5 के खिड़की का ग्रिल और छत तोड़कर कुल 5 आरोपी जेल से फरार हो गए. खबर है कि जेल में आते ही वे सभी भागने की प्लानिंग और कोशिश में लगे थे. जेल प्रशासन को चकमा देकर इन सबके फरार होने के बाद अफरातफरी मच गई है.

 कुछ दिन पहले भी भागे थे दो कैदी

इसी अस्थायी जेल के बाथरूम की खिड़की तोड़कर कुछ दिन पहले अरशद सैयद और आकाश पवार नामक दो कैदी भाग निकले थे. बाद में उन्हें एक के बाद एक पकड़ लिया गया. इसके बाद आज सुबह पांच कैदी इसी अस्थायी जेल से फरार हो गए. जेल प्रशासन ने येरवड़ा पुलिस स्टेशन में दोनों के फरार होने की प्राथमिकी दर्ज कराई है. सभी पुलिस स्टेशनों में कैदियों की तस्वीरें भेजी गई हैं. पुलिस ने शहर में नाकाबंदी कर दी है. बहरहाल इस घटना से पूरे पुणे जिले में खलबली मच गई है. इस तरह से कैदियों के जेल से भाग निकलने की लगातार घट रही घटनाओं से जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लग गया है.