जंबो अस्पताल में बने 50 ऑक्सीजन बेड

  • नए कोरोना के मरीज किए जा रहे भर्ती
  • 5 दिनों में 66 मरीजों को दिया गया डिस्चार्ज

पुणे. जंबो कोविड़ अस्पताल (Jumbo Covid Hospital)  में हाल ही में 50 ऑक्सीजन बेड (50 oxygen beds) चालू किए गए हैं. इसके अलावा और 25 ऑक्सीजन बेड, 5 आईसीयू और 5 वेंटिलेटर बेड का निर्माण जल्द ही किया जाएगा. शुक्रवार तक कुल 85 बेड बनाए जाएंगे. गुरुवार से यहां नए रोगियों का प्रवेश शुरू हो गया और आज 4 मरीजों को भर्ती किया गया. साथ ही 14 मरीजों को घर छोड़ दिया गया. विगत 5 दिनों में कुल 66 मरीजों को डिस्चार्ज दिया गया है. ऐसी जानकारी अतिरिक्त आयुक्त और जम्बो सेंटर की कार्यकारी अध्यक्ष रूबल अग्रवाल (Rubal Aggarwal) ने दी.

यंत्रणा सक्षम करने पर जोर

जंबो कोविड़ अस्पताल प्रणाली को अधिक कुशल बनाने के लिए, पुणे मनपा प्रशासन द्वारा  मंगलवार (8 सितंबर) को स्थिति का जायजा लेने के लिए महापौर मुरलीधर मोहोल और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने मुलाकात की थी. इस अवसर पर अतिरिक्त आयुक्त अग्रवाल ने कहा था कि ऑक्सीजन बेड्स की संख्या और अस्पताल की कुल क्षमता में वृद्धि की जाएगी. तदनुसार, 50 ऑक्सीजन बेड्स को कार्यान्वित किया गया है.   पिछले सप्ताह 2 सितंबर से नए रोगियों को भर्ती नहीं किया गया था. हालांकि अब प्रवेश खुले हैं.

हर दिन दिया जा रहा डिस्चार्ज

इस बीच, रूबल अग्रवाल ने कहा कि इन 50 बेड्स  के अलावा, ऑक्सीजन बेड के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता को पूरा करने के लिए जंबो कोविड़ केंद्र में दो लिक्विड ऑक्सीजन टैंक स्थापित किए गए हैं. एक 11 केएल से और दूसरा 15 केएल ऑक्सीजन स्टोरेज से लैस है. अग्रवाल के अनुसार जंबो में ठीक हुए 20 मरीजों को बुधवार को घर से छुट्टी दे दी गई, जबकि 14 मरीजों को गुरुवार को छुट्टी दे दी गई. जंबो में अब तक कुल 66 मरीज इलाज से उबर चुके हैं. रिश्तेदार  टैबलेट का इस्तेमाल कर कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इलाज कर रहे रोगियों के साथ संवाद करने की सुविधा का लाभ उठा रहे हैं. दिन में एक बार एक रिश्तेदार वीडियो कॉल के माध्यम से रोगी के साथ संवाद कर सकता है.  रिश्तेदारों ने सुविधा पर संतोष व्यक्त किया. ऐसा भी अग्रवाल ने कहा.