Bangladesh expressed concern over India's decision to stop onion exports

  • किसानों ने चोर को पकड़कर किया पुलिस के हवाले

पिंपरी. भारी बारिश के चलते फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है. पुणे और पिंपरी-चिंचवड़ समेत पूरे राज्य में प्याज की कीमतें एक बार फिर आसमान छूने लगी हैं. एक किलो प्याज 100 से 120 रुपये किलो में बिक रहा है. ऐसे में चोरों की नजर अब किसानों के प्याज पर गड़ गई है. ऐसा ही मामला पुणे जिले के जुन्नर तालुका में सामने आया. 

जुन्नर तालुका के मांजरवाड़ी के पास देवची जली गांव में गत सप्ताह तड़के 550 किलो प्याज की चोरी की वारदात सामने आयी है. इस दौरान किसानों ने 2 में से जुन्नर तालुका के संजय पारधी नामक एक आरोपी को पकड़ लिया. किसानों के मुताबिक, उनके 2 गोदामों से प्याज के 10 बोरे गायब है, जिसमें से प्रत्येक में लगभग 55 किलो प्याज भरे थे. बाद में किसानों ने चोर को नारायणगांव पुलिस को सौंप दिया.

एक भागने में कामयाब

देवची जली के किसान दत्तात्रेय थोरात (32) ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. पुलिस के अनुसार थोरात और उनके परिवार के सदस्यों ने मंगलवार रात को गोदाम से प्याज के साथ 38 बोरे भरकर उन्हें गोदाम के अंदर रखा और एक तार के साथ दरवाजे को बंद कर दिया. हर दो घंटे में इसकी चेकिंग करने का फैसला किया क्योंकि प्याज की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं. बुधवार को रात 9 बजे और रात 10.30 बजे के आसपास गोदाम जाकर जांच की. इसके बाद जब गुरुवार को लगभग 2.30 बजे वहां जाकर देखा गया, तो एक तीन-पहिया कॉमर्शियल वाहन और एक बाइक गोदाम के पास खड़े नजर आए. 2 आदमी प्याज के बोरे वाहन में भर रहे थे. इस पर उन्होंने तुरंत अलार्म बजाते हुए शोर मचा दिया. इसके बाद 2 में से एक भाग गया. थोरात, रिश्तेदार और अन्य लोग उनकी चीख सुनकर मौके पर पहुंचे और दूसरे संदिग्ध को पकड़ लिया, जो कि अपनी बाइक स्टार्ट करने की कोशिश कर रहा था. उसने अपनी बाइक पर प्याज का एक बोरा बांध रखा था. थोरात ने उसे पुलिस को सौंप दिया. उनके गोदाम से प्याज के 3 बोरे चोरी हो गए और उनके पड़ोसी अनिल पाटिल के गोदाम से लगभग सात बोरे प्याज चोरी हो गए.

पुलिस ने की दूसरे संदिग्ध की पहचान 

नारायणगांव पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने दूसरे संदिग्ध की पहचान कर ली है. जल्द ही उसे भी गिरफ्तार करेंगे. प्याज की चोरी को देखते हुए जिले के अधिकांश किसान प्याज को गोदाम से अपने घरों में भेज रहे हैं. एक अन्य किसान संतोष थोरात ने कहा कि प्याज अब 100 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेचा जा रहा है. हम अपने मेहनत को बेकार नहीं जाने दे सकते और प्याज को चोरों के हाथों में नहीं जाने दे सकते. इसलिए हम प्याज को अपने घरों में रख रहे हैं. इससे हमें चोरों से बचाव में मदद मिलेगी.