16 निजी अस्पतालों में 80% बेड्स आरक्षित

मनपा आयुक्त ने जारी किए निर्देश

पुणे. कोरोना महामारी ने पूरे शहर को परेशान करके रखा है. शहर में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. मनपा के सहायता के लिए निजी अस्पतालों के 80 प्रतिशत बेड्स आरक्षित करने के निर्देश राज्य सरकार ने दिए हैं. 

इसके अनुसार मनपा आयुक्त शेखर गायकवाड़ ने शहर के 16 अस्पतालों केबेडस आरक्षित किए हैं. इसमें कोविड साथ ही नॉन कोविड मरीजों पर उपचार किए जाएंगे.

10 हजार से अधिक संक्रमित

ज्ञात हो कि शहर में कोरोना का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है. कोरोना से मरनेवालों की संख्या 481 तक जा पहुंची हैं. इससे शहर में चिंता का माहौल बना हुआ है. महापालिका प्रशासन की ओर से संक्रमित लोगों को ठीक करने के लिए कई सारे प्रयास किए जा रहे है, लेकिन घनी बस्तियां व झोपड़ी इलाकों में इसका प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है. अब शहर में 10 हजार से अधिक लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं. संक्रमित लोगों को क्वारंटाइन करने एवं उनपर उपचार करने के लिए महापालिका प्रशासन द्वारा क्वारंटाइन कक्ष, कोविड सेंटर, फ्लू सेंटर बनाए हैं. उसमें नागरिकों को भोजन समेत सभी तरह की सुविधा दी जा रही है. इस बीच संक्रमित लोगों का रिकवर होने का दर बढ़ा है. कुल संक्रमितों से करीब 6713 लोगों को डिस्चार्ज दिया गया है. इसके अनुसार अब सभी मरीजों को उपचार मिले इस हेतु निजी अस्पतालों के बेड्स आरक्षित किए जाएंगे.

उपचार का बिल मनपा नहीं देगी

आयुक्त के निर्देशानुसार मनपा के सहायता के लिए निजी अस्पतालों के 80 प्रतिशत बेड्स आरक्षित करने के निर्देश राज्य सरकार ने दिए हैं. इसके अनुसार  शहर के 16 अस्पतालों के बेडस आरक्षित किए हैं. इसमें कोविड साथ ही नॉन कोविड मरीजों पर उपचार किए जाएंगे. इसमें भी 50% बेड्स कोविड-19 के मरीजों के लिए होंगे. निर्देश में कहा गया है कि उपचार का बिल मनपा नहीं देगी. साथ ही संबंधित लोगों को बिल देते समय सरकार के नियमों का पालन करना होगा.