876 किलो गांजा और साढ़े सात किलो चरस जब्त

– दो करोड़ 10 लाख का माल मिला

– पुणे में कस्टम विभाग की बड़ी कार्रवाई

पुणे. पुणे पुलिस की नाक के नीचे कस्टम विभाग ने नशीले पदार्थों की तस्करी के बड़े रैकेट का पर्दाफाश करते हुए दो करोड़ 10 लाख रुपए का गांजा और चरस जब्त किया है. 

गुरुवार को सुबह पुणे में की गई इस कार्रवाई में पौने नौ सौ किलो गांजा और साढ़े सात किलो चरस बरामद किया गया है. इस कार्रवाई में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. बहरहाल इतने बड़े पैमाने पर नशीले पदार्थों का जखीरा मिलने से पुणे में खलबली मच गई है.

आंध्र प्रदेश से लाई जा रही थी खेप

पुणे कस्टम विभाग की सह आयुक्त वैशाली पतंगे द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, आंध्र प्रदेश के कुछ दुर्गम इलाकों से महाराष्ट्र में अलग-अलग जगहों पर नशीले पदार्थो का ट्रांसपोर्टेशन करनेवाले ट्रक के बारे में कस्टम विभाग को जानकारी मिली थी. इसके अनुसार कस्टम अधिकारियों की टीमें नलदुर्ग-सोलापुर रोड पर सोलापुर के बोरामणी गांव में कल दोपहर साढ़े चार बजे से ट्रैप लगाया था. बोरामणी-नलदुर्ग रोड पर ट्रक और उसके साथ रहे वाहनों का पीछा किया गया और पुणे में उन्हें रोकने में कामयाबी मिली. तलाशी लेने पर ट्रक के छत में बनी एक खुफिया जगह में छिपाकर रखा गया गांजा पाया गया. दूसरे एक अन्य वाहन में चरस पायी गई. दोनों गाड़ियों के चालक और क्लीनर कुल 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया. इस कार्रवाई में 868 किलो गांजा और साढ़े सात किलो चरस बरामद की गई. बरामद गांजे की कीमत एक करोड़ चार लाख रुपए बताई गई है.