पीएमपी के 957 कर्मी कोरोना ड्यूटी पर!

  •  मनपा प्रशासन को मिलेगा सहयोग

पुणे. कोरोना का प्रकोप रोकने एवं उसका मुकाबला करने के लिए महापालिका ने अपनी पूरी यंत्रणा काम पर लगा दी है. क्वारंटाइन कक्ष से लेकर विभिन्न कक्ष प्रशासन द्वारा बनाए हैं. साथ ही सर्वे का काम भी किया जा रहा है. उसके लिए मनपा के सभी विभागों के अधिकारियों व कर्मियों को काम पर लगा दिया गया है. 

हाल ही में कोरोना के काम में जूनियर इंजीनियरों की सेवा अधिग्रहित की गई थी. उसके बाद पीएमपी के कर्मी भी इस काम पर लगा दिए जाएंगे. लगभग 957 कर्मियों की आर्डर जारी की गई है. इससे पहले भी कर्मी लिए गए थे. इन लोगों को मनपा प्रशासन का सहयोग कर कोरोना का काम करना है.

विभिन्न कामों की सौंपी गई जिम्मेदारी

ज्ञात हो कि कोरोना शहर में तेजी से फ़ैल रहा है. अब तक 800 से अधिक लोगों की जान इस वायरस ने ली है. साथ ही 9 हजार से अधिक लोगों पर शहर के विभिन्न अस्पतालों में उपचार चल रहा है. महापालिका द्वारा इसे रोकने के लिए कई प्रयास किय जा रहे है. महापालिका ने अपने स्वास्थ्य विभाग के कर्मी व अधिकारियों के साथ ही शेष विभागों के भी अधिकारियों व कर्मियों को कोरोना के काम पर लगा दिया गया है. इसमें क्वारंटाइन कक्ष व अलगीकरण कक्ष में काम करना, सर्वे करना, कोरोना के काम की रिपोर्ट देना, शेल्टर में काम करना, कोरोना प्रतिबंधत्मक उपाय योजना के लिए जनजागृति करना, ऐसे कामों का समावेश है. इसके लिए मनपा कर्मी के साथ ही शिक्षा विभाग के कर्मी, आंगनवाड़ी सेविका, महिला बचत गट के लोग इन्हें काम दिया गया है.

 5 परिमंडल के दायरे में करना होगा काम

महापालिका अतिरिक्त आयुक्त के निर्देशानुसार पीएमपी कर्मियों की सेवा कोविड-19 महामारी के रोकथाम को लेकर अधिग्रहित की गई है. इसको लेकर पीएमपी के सीएमडी ने इसे अनुमति दी है.  इस वजह से इन लोगों को कोरोना का काम करना होगा. हाल ही में 5 परिमंडल के लिए कुल 200  कर्मियों को नियुक्त किया गया था. उसके बाद अब 770 कर्मियों को इस काम पर लगा दिया गया है. ऐसे कुल 957 कर्मी कोरोना के काम पर लगाए गए हैं. मनपा अतिरिक्त आयुक्त द्वारा यह निर्देश जारी किए गए हैं. इन लोगों को कोविड सेंटर, विलगीकरण कक्ष में काम दिया गया है.