corona

  • एक महीने से अस्पताल में भर्ती थे नगरसेवक लक्ष्मण उंडे

पिंपरी. महामारी कोरोना की चपेट में आकर पिंपरी-चिंचवड मनपा के एक और नगरसेवक की मौत हो गई. सत्ताधारी भाजपा के नगरसेवक लक्ष्मण उंडे चिंचवड़ के एक निजी अस्पताल में माहभर से जिंदगी और मौत से जूझ रहे. शनिवार को वे कोरोना के खिलाफ जारी जंग हार गए. पिंपरी-चिंचवड़ मनपा के वे तीसरे ऐसे नगरसेवक साबित हुए जो महामारी कोरोना की चपेट में आए. उनसे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस के 2 नगरसेवकों की महामारी की चपेट में आकर मौत हो चुकी है.

भारतीय सेना से रिटायर होने के बाद राजनीति में आए

भारतीय सेना से रिटायर हुए लक्ष्मण उंडे पिंपरी-चिंचवड़ मनपा के प्रभाग क्रमांक 4 दिघी-बोपखेल में अनुसूचित जमात प्रवर्ग से पहली बार नगरसेवक चुने गए थे. भाजपा की ओर से वे स्थायी समिति के सदस्य पद पर भी नियुक्त हुए थे. माहभर पहले ही वे कोरोना से संक्रमित पाए गए. उनका चिंचवड के एक निजी अस्पताल में उपचार किया जा रहा था. वे डायबिटीज से भी पीड़ित थे. उनकी तबियत बिगड़ने से कुछ दिन से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. शनिवार को उन्होंने आखिरी सांस ली.

अब तक 1200 से अधिक की कोरोना से मौत

पूरे पिंपरी-चिंचवड़ शहर में कोरोना की वजह से अब तक 1200 से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. उससे नगरसेवक भी अछूते नहीं रहे हैं. अब तक राष्ट्रवादी कांग्रेस के 2 और भाजपा के एक कुल 3 नगरसेवकों की मौत हुई है. भाजपा के नगरसेवक लक्ष्मण उंडे से पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस के वरिष्ठ नगरसेवक और भूतपूर्व विपक्षी नेता दत्ता साने और वरिष्ठ नगरसेवक जावेद शेख की मौत हुई है. उनके अलावा भूतपूर्व महापौर रंगनाथ फुगे, भूतपूर्व नगरसेवक साहेबराव खरात, एकनाथ थोरात, लक्ष्मण गायकवाड का भी कोरोना की वजह से निधन हुआ है.