5 दिन में सुलझाई एटीएम मशीन चोरी की गुत्थी

– 150 से ज्यादा संदिग्धों से पूछताछ

– डेढ़ लाख की नकदी समेत साढ़े सात लाख का माल बरामद

– क्राइम ब्रांच यूनिट-1 की सफलता

पिंपरी. पौने छह लाख रुपए की नकदी के साथ एटीएम मशीन उखाड़ ले जाने की वारदात को पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस की क्राइम ब्रांच के यूनिट-1 की टीम ने 5 दिनों के भीतर सुलझाने में सफलता पायी है. इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके एक किशोर उम्र के साथी को हिरासत में लिया गया है. उनसे करीबन डेढ़ लाख रुपए की नकदी समेत करीबन साढ़े सात लाख रुपए के माल की बरामदगी भी की गई है. हालांकि यह सफलता पुलिस को आसानी से नहीं मिली है. पिंपरी-चिंचवड़ के निगड़ी से पुणे के माँजरी तक 100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालने और 150 से ज्यादा संदिग्ध लोगों से पूछताछ करने के बाद यह वारदात सुलझाई जा सकी है.

ये सामान हुआ बरामद

अजयसिंह अर्जुनसिंह दुधानी (20) और शेर्या उर्फ श्रीकांत विनोद धोत्रे (23) ऐसे इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम हैं. उनके साथ एक किशोर उम्र के लड़के को भी हिरासत में लिया गया है. चुराई गई एटीएम मशीन को काटकर उसमें से पैसे निकालने के बाद मांजरी में मुला नदी में फेंक दिया गया था. उसे नदी में उतरकर चुंबक की सहायता से बरामद कर लिया गया है. इस वारदात में इस्तेमाल की गई 3 लाख रुपए की महेंद्रा पिकअप जीप, साढ़े तीन लाख रुपए की एटीएम मशीन, एटीएम में से चुराए गए नकद में से एक लाख 40 हजार रुपए, 18 हजार रुपए के मशीन खींचकर ले जाने में इस्तेमाल की गई लोहे की वायर, इलेक्ट्रिक केबल, एटीएम मशीन काटने वाला हैंड ग्रैन्डर, 40 हजार रुपये की हीरो होंडा पैशन मोटर साइकिल कुल 7 लाख 49 हजार रुपए का माल भी बरामद किया गया है.

100 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए

पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस आयुक्त संदीप बिश्नोई ने एक संवाददाता सम्मेलन में इसकी जानकारी देते हुए कहा कि गत सप्ताह 8 जून को थरमैक्स चौक में 5 लाख 71 हजार रुपए की नकदी समेत पूरी एटीएम मशीन उखाड़ ले जाने की वारदात हुई थी. इस मशीन को महेंद्र पिकअप जीप से लोहे की केबल और इलेक्ट्रिक केबल से बांधकर उखाड़ लिया गया था. इस वारदात को सुलझाना किसी चुनौती से कम न था. शहर में एटीएम मशीन चोरी की लगातार घट रही घटनाओं की रोकथाम के लिए गठित एटीएम चोरी विशेष दस्ता और क्राइम ब्रांच युनिट-1 इस मामले की छानबीन में जुट गई. वारदात के बाद लुटेरे हड़पसर की दिशा में गए हैं, ऐसा सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर पता चला. इसके बाद निगड़ी से लेकर मांजरी तक 100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालते हुए पुलिस जीप के मालिक तक पहुंची. उसके बाद जीप और मोटरसाइकिल की कड़ियाँ जोड़ते हुए आरोपियों तक पहुंच बनाई गई. इसके लिए वाहनचोरी और इस तरह की वारदात करनेवाले 150 से ज्यादा संदिग्ध आरोपियों से पूछताछ की गई. इसके बाद 3 दिन लगातार ट्रैप लगाकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके किशोर उम्र के साथी को हिरासत में लिया गया.

आरोपियों ने गुनाह कबूला

पूछताछ में उन्होंने वारदात स्वीकार कर ली. वारदात में इस्तेमाल की गई जीप को आरोपियों ने लोणी कालभोर के होलकरवाड़ी, औताडेफाटा इलाके से चुराया था. एटीएम मशीन चुराने के बाद वे मांजरी परिसर में मुला नदी किनारे ले गए. वहां हैंड गँडर (कटर), हथौडा व छन्नी से काटकर नगदी रकम निकाला. फिर मशीन को नदी में फेंक दिए. मिली रकम को आपस में बांटकर पिकअप गाडी वडकीफाटा, सासवड रोड के किनारे छोडकर फरार हो गए थे. इस कार्रवाई को क्राइम ब्रांच यूनिट-1 के वरिष्ठ पुलिस निरिक्षक उत्तम तांगडे, सहायक पुलिस निरिक्षक गणेश पाटील, सतीश कांबले, रविंद्र गावंडे, प्रमोद लांडे, सोमनाथ बोर्‍हाडे, अमित गायकवाड, महादेव जावले, सचिन उगले, नितिन खेसे, प्रविण पाटील, विशाल भोईर, किशोर परदेशी, सचिन मोरे, विजय मोरे, गणेश सावंत, मारुति जायभाये, प्रमोद हिरलकार, आनंद बनसोडे, प्रमोद गर्जे, अजणराव सोडगिर के समावेश वाली टीम ने अंजाम दिया.

सुरक्षा में लापरवाही बरतनेवाले बैंकों पर होगी कार्रवाई

एटीएम मशीन चोरी प्रकरण में बैंक मैनेजरों को लिगल नोटिस भेजी गई है. इसके बावजूद अपने बैंक एटीएम मशीन की सुरक्षा के लिए लापरवाही बरत रहे है. सुरक्षा गार्ड, सीसीटीवी कैमरा, एटीएम मशीन का मजबूत फाऊंडेशन इत्यादि के मामले में पुलिस विभाग की ओर से कई बार गाइडलाइन जारी की गई. मगर आज भी कुछ बैंक इस गाइडलाइन का पालन करते दिखाई नहीं दे रहे. जनता का जमापूंजी के प्रति लापरवाही बरतने वाले बैंक मैनेजरों के विरुद्द सख्त कार्रवाई होगी, यह चेतावनी पिंपरी- चिंचवड शहर पुलिस आयुक्त संदीप बिश्नोई ने दी. इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस आयुक्त रामनाथ पोकले, पुलिस उपायुक्त सुधीर हीरेमठ, क्राइम ब्रांच के सहायक पुलिस आयुक्त आरआर पाटिल आदि उपस्थित थे.