Covid Care Centers
File Photo

    पिंपरी. कोरोना (Corona) का संक्रमण कम होने से मरीजों (Patients) की संख्या घट गई है। पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के चिंचवड स्थित ऑटो क्लस्टर के कोविड केयर सेंटर में तो आज की तारीख में एक भी मरीज नहीं है। इसके मद्देनजर मनपा कमिश्नर राजेश पाटिल ने यहां का कोविड सेंटर बन्द करने का फैसला किया है। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए महानगरपालिका ने ऑटो क्लस्टर में कोरोना संक्रमित मरीजों को तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सुसज्जित व्यवस्था स्थापित की है।

    21 फरवरी से शहर में कोरोना मरीजों की संख्या फिर से बढ़ने लगी थी।  प्रतिदिन मरीजों की संख्या तीन हजार तक पहुंच गई थी। हालांकि मई के पखवाड़े से शहर में मरीजों की संख्या में कमी आ रही है। मरीजों की संख्या पांच सौ के भीतर आ गई है। अस्पताल में भर्ती संक्रमित मरीजों की संख्या में भी भारी कमी आई है। ऑटो क्लस्टर कोविड अस्पताल में फिलहाल कोई मरीज नहीं है। मरीजों की कमी के कारण ऑटो क्लस्टर कोविड अस्पताल को तत्काल बंद करने की आवश्यकता है।

    कम हो रहे कोरोना के मरीज

    मनपा प्रशासन ने आज से ऑटो क्लस्टर कोविड अस्पताल को बंद कर दिया है। इस अस्पताल के लिए 9 मई को अधिग्रहित निजी कंपनी फॉर्च्यून टच के सभी कर्मचारियों की छंटनी कर दी गई है। इस बारे में जारी किए आदेश में कमिश्नर पाटिल ने कहा कि इस अस्पताल में कार्यरत मनपा के अधिकारी व कर्मचारी अगले आदेश तक अस्पताल में काम करते रहें। इस बीच, मरीजों की संख्या में गिरावट के कारण निगम ने पहले ही पांच कोविड देखभाल केंद्र (सीसीसी) बंद कर दिए हैं। इस बीच नेहरू नगर के अन्नासाहेब मगर स्टेडियम में 100 मरीजों का इलाज चल रहा है और नए मरीजों का प्रवेश रोक दिया गया है। प्रशासन का कहना है कि यह जंबो कोविड सेंटर 10 तारीख तक बंद रहेगा।