महाराष्ट्र के पुणे में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के विरोध में कुछ संगठनों द्वारा बुलाए गए बंद का

पुणे. महाराष्ट्र के पुणे में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के विरोध में कुछ संगठनों द्वारा बुलाए गए बंद का कोई विशेष प्रभाव नहीं दिखाई दिया. शहर के कुछ क्षेत्रों में दुकानें बंद रहीं. पुलिस ने सारसबाग, स्वारगेट, गोलीबार मैदान, चंदन नगर और येरवडा में विरोध प्रदर्शन करने के लिए बहुजन क्रांति मोर्चा (बीकेएम) समेत विभिन्न संगठनों के 250 सदस्यों को हिरासत में लिया.
स्वारगेट पुलिस थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सारसबाग में बहुजन क्रांति मोर्चा के सदस्य शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. उन्हें निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के लिए हिरासत में लिया गया. विशेष शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों से कम से कम 250 सदस्यों को हिरासत में लिया गया. उन्होंने कहा कि शहर से किसी अप्रिय घटना का समाचार नहीं मिला. शहर में सार्वजनिक परिवहन निर्बाध रूप से चलता रहा और स्कूल कालेज खुले रहे. कुल मिलाकर बंद के आह्वान को शहर में अपेक्षित प्रतिक्रिया नहीं मिली.

This is published from the Print feed.