Indian-origin couple died due to electrocution in South Africa, had married a few days ago
Representative Photo

  • आत्महत्या या हादसे में चली गोली? , पुलिस की छानबीन शुरू

पिंपरी. कोरोना महामारी के साये में साल के पहले सबसे बड़े त्यौहार होली (Holi) के बीच पिंपरी-चिंचवड़ शहर (Pimpri-Chinchwad City) में तब खलबली मच गई जब यहां महानगरपालिका के सत्तादल भाजपा (BJP) की एक नगरसेविका के पुत्र (Corporator Son) की सिर में गोली लगने से मौत हो गई। उसने अपने पिता की पिस्तौल (Pistol) से खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली या फिर पिस्तौल देखते वक्त गलती से गोली चली औऱ हादसे में उसकी मौत हो गई? यह अब तक स्पष्ट नहीं हो सका है। चिंचवड़ पुलिस हर पहलू से इस मामले की छानबीन कर रही है।

प्रसन्न शेखर चिंचवड़े (21) ऐसा इस घटना के मृतक का नाम है। उसकी मां करुणा चिंचवड़े पिंपरी-चिंचवड़ मनपा में सत्तादल भाजपा की नगरसेविका है। रविवार की रात सवा नौ बजे के करीब चिंचवड़गांव में चिंचवड़े के घर पर यह घटना घटी। इसके बाद शहर के निजी अस्पताल में इलाज के दौरान प्रसन्न की मौत हो गई। आज तड़के उसकी पार्थिव देह का अंतिम संस्कार किया गया। इस घटना को लेकर चिंचवड़ पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कर ली है। 

इलाज के दौरान हुई मौत

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, नगरसेविका करुणा चिंचवड़े के घर पर नई गाड़ी खरीदने को लेकर चर्चा चल रही थी। इस सिलसिले में प्रसन्न बीती सुबह कार शोरूम भी जाकर आया था। दिनभर वह काफी उत्साहित और खुश था। रात सवा नौ बजे के करीब उसने अपने पिता शेखर चिंचवड़े से उनकी लाइसेंसी पिस्तौल मांगी। इसके कुछ ही देर बाद उसके घरवालों को गोली चलने की आवाज सुनाई दी। सभी लोग प्रसन्न के कमरे की ओर दौड़े गए तब वह रक्तरंजित हालत में अचेत गिरा हुआ नजर आया।  बताया जा रहा है कि पिस्तौल से निकली गोली उसके सिर में जा लगी जिसके चलते वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसके घरवालों ने तत्काल उसे उठाकर थेरगांव के एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया। यहां इलाज के दौरान उसने देर रात दम तोड़ दिया। इस घटना से पूरे शहर में खलबली मच गई। प्रसन्न ने खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली या फिर पिता की लाइसेंसी पिस्तौल देखते वक्त गलती से उसके हाथों गोली चल गई और हादसे में उसकी जान गई? यह अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। चिंचवड़ पुलिस छानबीन में जुटी हुई है।