मंदिर खोलने के लिए बीजेपी का आंदोलन

  • सत्ता से हटे भ्रष्ट महाविकास आघाड़ी सरकार
  • भाजपा शहराध्यक्ष जगदीश मुलिक की मांग

पुणे. यदि मंदिर के द्वार भक्तों के लिए नहीं खोले जा सकते, तो सोए हुए पाखंडी, भ्रष्ट महाविकास आघाड़ी सरकार को सत्ता से हटना चाहिए. ऐसी मांग  पुणे शहर भाजपा अध्यक्ष जगदीश मुलिक ने की. मंगलवार को शहर भाजपा अध्यक्ष जगदीश मुलिक के नेतृत्व में भाजपा ने गठबंधन सरकार को जगाने के लिए ग्राम देवता ताम्बडी जोगेश्वरी मंदिर के सामने आंदोलन किया.  

सोई हुई सरकार को जगाने शंखनाद

इस आंदोलन के दौरान सोई हुई कुंभकर्ण जैसी सरकार को जगाने के लिए भजन, घंटियां और शंख बजाए गए. मुलिक ने कहा कि कोरोना के कारण बंद किए गए लेन-देन अब फिर से शुरू किए जा रहे हैं, लेकिन सरकार मंदिर के दरवाजे खोलने के लिए तैयार नहीं है, जो पिछले साढ़े छह महीने से बंद पड़े हैं. विभिन्न राजनीतिक दल, धार्मिक संगठन और भक्त इसके लिए लगातार मांग कर रहे हैं. लेकिन सरकार को जनता की भावना का ध्यान नहीं है. इसलिए, यह आंदोलन सरकार को जगाने के लिए शुरू किया गया. ऐसा मुलिक ने कहा.

बड़े पदाधिकारी रहे मौजूद

आंदोलन में महापौर मुरलीधर मोहोल, विधायक मुक्ता तिलक, उप महापौर सरस्वती शेंडगे, स्थायी समिति के अध्यक्ष हेमंत रासने, शहर महासचिव राजेश पांडे, दत्ता खाडे, गणेश घोष, राजेश येनपुरे, दीपक पोटे, दीपक नागपुरे, संदीप लोनकर, महिला मोर्चा अध्यक्ष  पाठक, राघवेंद्र मानकर प्रमुख रूप से उपस्थित थे.

सभी व्यवहार शुरू होने लगे हैं. पर पिछले साढे छह माह से बंद पड़े मंदिर खोलने के लिए सरकार तैयार नहीं, जबकि लोग इसे खोलने की पुरजोर मांग कर रहे हैं. इस सरकार को जनता की भावना का ख्याल नहीं है. – जगदीश मुलिक, भाजपा शहराध्यक्ष