महिला अत्याचारों के खिलाफ भाजपा का फूटा ‘आक्रोश’

पिंपरी. महाविकास आघाडी सरकार के कार्यकाल में महाराष्ट्र में महिलाओं की सुरक्षा का मसला गंभीर बन चुका है.आए दिन महिला अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं.इस गंभीर मसले पर सरकार को नींद से जगाने के लिए भाजपा द्वारा सोमवार को भोसरी में ‘आक्रोश आंदोलन’ किया गया. इस दौरान भाजपा की पिंपरी-चिंचवड़ शहर इकाई के अध्यक्ष और विधायक महेश लांडगे ने सवाल उठाया कि क्या सरकार नींद में सो रही है? उन्होंने कहा कि आघाड़ी सरकार के नेताओं को उत्तर प्रदेश की घटना तो दिखाई देती है मगर महाराष्ट्र में बढ़ रही घटनाएं नजर नहीं आती. इस सरकार का कामकाज ‘दिया तले अंधेरे’ जैसा है, यह टिप्पणी भी उन्होंने की.

छत्रपति शिवाजी महाराज स्मारक के सामने धरना

भाजपा महिला मोर्चा की ओर से भोसरी के पीएमटी चौक स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज स्मारक के सामने आक्रोश आंदोलन किया गया.आंदोलन के बाद तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया जिसमें राज्य में महिलाओं को सुरक्षित माहौल न देने की सूरत में भाजपा की महिला पदाधिकारी कानून अपने हाथों में लेंगी, यह चेतावनी भी विधायक लांडगे द्वारा दी गई. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कई जगहों पर बलात्कार, अत्याचार, छेड़छाड़ और हत्याएं और साथ ही कोरोना महामारी जैसे सबसे संवेदनशील समय में कोविड केंद्र और अस्पतालों में महिलाओं पर अत्याचार और छेड़छाड़ जारी है. बार-बार शिकायत और आंदोलन करने के बावजूद राज्य सरकार द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है.

प्रमुख पदाधिकारी शामिल हुए

इस आंदोलन में भाजपा के विधायक लक्ष्मण जगताप, महापौर ऊषा उर्फ माई ढोरे, उपमहापौर तुषार हिंगे, महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष उमा खापरे, सभागृह नेता पक्षनेते नामदेव ढाके, प्राधिकरण पूर्व अध्यक्ष सदाशिव खाडे, प्रदेश सचिव अमित गोरखे, संगठन महासचिव अमोल थोरात, मोरेश्वर शेडगे, राजू दुर्गे, विजय फुगे, बाबू नायर, महिला मोर्चा अध्यक्ष उज्वला गावडे, पूर्व महापौर नितीन कालजे, राहुल जाधव, नगरसेविका सीमा सावले, शैलजा मोरे, झामाबाई बारणे, स्वीनल म्हेत्रे, प्रियांका बारसे, शर्मिला बाबर, शारदा सोनावणे, सुजाता पालांडे, उषा मुंढे, निर्मला कुटे, सारिका लांडगे, सविता खुले, आशा शेंडगे, अश्विनी जाधव, नम्रता लोंढे, कमल घोलप, अनुराधा गोरखे, निर्मला गायकवाड, साधना मलेकर, नगरसेवक विलास मडीगेरी, नितीन लांडगे, संजय नेवाले, एकनाथ पवार, विकास डोलस, कुंदन गायकवाड, उत्तम केंदले, सुरेश भोईर, केशव घोलवे, मंडल अध्यक्ष योगेश चिंचवडे, विजय शिनकर, महादेव कवितके, शैला मोलक, पल्लवी वाल्हेकर, भारती विनोदे, रंजना चिंचवडे, दिपाली धनोकार आदि शामिल हुए.