Murder of one on suspicion of immoral relations, case registered

पुणे. सगे भाई द्वारा पत्नी के अनैतिक संबंध के बारे में गांव में बताने और उसे सार्वजनिक करने के डर से एक भाई ने पत्नी और उसके प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही छोटे भाई की हत्या करने की चौंकानेवाला मामला पुणे जिले में सामने आया है. 

हत्या के बाद सबूत मिटाने के उद्देश्य से उसके शव को भी दफना दिया गया था. पुणे जिले के मुलशी तालुका के कुले गांव से यह घटना सामने आई है.

गड्ढे में दफनाया शव

इस सनसनीखेज वारदात में मरनेवाले का नाम संतोष विश्वनाथ बालेकाई (40) है.इस मामले में मृतक के सगे भाई स्वामीनाथ उर्फ़ उमेश विश्वनाथ बालेकाई (45), अमृता उमेश बालेकाई (38), विजय कुमार नारायण राठौड़ (40) को गिरफ्तार किया गया है. उनके खिलाफ पौड़ पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है. इस घटना को लेकर खेत मालिक प्रसाद कुलकर्णी ने शिकायत दर्ज कराई है. 

कोयते से वार कर उसकी हत्या कर दी

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कुलकर्णी का कुले गांव में फॉर्महॉउस है.यहां स्वामीनाथ, उसकी पत्नी अमृता और विजय कुमार केयरटेकर के रूप  में काम करते है. अमृता और विजय कुमार के बीच अनैतिक संबंध थे. इसकी जानकारी अमृता के पति स्वामीनाथ को भी थी. मृतक संतोष दिवाली पर अक्कलकोट से विश्वनाथ के पास आया था. इस दौरान उसे अपनी भाभी के अनैतिक संबंध की भनक लगी. संतोष ने भाभी को समझाया कि वह भाई का संसार ख़राब नहीं करे. संतोष के गांव जाने के बाद विश्वनाथ को अपनी पत्नी के अनैतिक संबंध सार्वजनिक होने का डर सताने लगा. इसके चलते उसने पत्नी अमृता, उसके प्रेमी विजय के साथ मिलकर संतोष को जान से मारने की साजिश रची. दिवाली से एक दिन पहले 13 नवंबर की रात उसके गले पर कोयते से वार कर उसकी हत्या कर दी गई. इसके बाद फार्महाउस के पास एक गड्ढा कर उसे दफना दिया. 2 दिन पहले जब कुलकर्णी फार्महाउस गए औऱ उन्हें संतोष नहीं नजर आया तब उन्होंने तीनों से उसके बारे में पूछताछ की.

भिन्न जवाबों के कारण खुली पोल

कुलकर्णी के पूछने पर तीनों ने अलग- अलग जवाब दिया.इस वजह से उनके मन में संदेह पैदा हो गया. उन्होंने फॉर्महॉउस एरिया में चक्कर लगाया.उन्हें वहां एक गड्ढा ढंका हुआ नज़र आया.जब उन्होंने तीनों को विश्वास में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने संतोष की हत्या करने की बात कबूल कर ली.इसके बाद कुलकर्णी ने पौड़ पुलिस को इस घटना की जानकारी दी.पुलिस ने लाश को हासिल कर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.इस मामले की जांच महिला सब इंस्पेक्टर रेखा दूधभाते कर रही है.