Case registered

    पुणे. धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार पुणे (Pune) के मशहूर बिल्डर और लुंकड़ रियलिटी के मालिक (Owner of Lunkad Reality) अमित लुंकड़ की दिक्कतें बढ़ गई हैं। उनकी गिरफ्तारी के बाद 23 और निवेशकों (Investors) ने पुलिस (Police) में 25 करोड़ रुपये से अधिक रुपये की धोखाधड़ी (Fraud) की शिकायत की है। 22 लाख रुपए की धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार 43 वर्षीय अमित लुंकड को जिला सत्र अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। इसके बाद धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए दो दर्जन से अधिक शिकायतें दर्ज कराई गई हैं।

    हालांकि लुंकड ने मामला दर्ज होने के तुरंत बाद शिकायतकर्ता को 22 लाख रुपये लौटा दिए। बाद में तीन और निवेशकों ने पुलिस से संपर्क किया और लुंकड ने उनके पैसे भी चुका दिए। अब लुंकड रियल्टी के खिलाफ कथित तौर पर 25 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी के लिए 23 से अधिक निवेशकों ने क्राइम ब्रांच की ओर रुख किया है। यह घटनाक्रम पुणे के डीएसके, दराडे जोग एसोसिएट्स और मार्वल डेवलपर्स जैसे प्रमुख रियल्टी संस्था के हालिया विवादों जैसा है। जो निवेशकों को धोखा देने के लिए जमाकर्ताओं के हित में महाराष्ट्र संरक्षण (वित्तीय प्रतिष्ठानों में) (एमपीआईडी) अधिनियम के प्रावधानों को आकर्षित करते हैं।

    सभी शिकायतों की जांच जारी

    सोमवार को लुंकड पर भारतीय दंड संहिता की धारा 420 और 406 के तहत मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद पुणे अपराध शाखा के एंटी एक्सटॉर्शन सेल द्वारा गिरफ्तार किया गया था। लुंकड पर निवेश पर उच्च ब्याज दरों का वादा करके कई निवेशकों को 50 लाख रुपये से अधिक की ठगी करने का आरोप लगाया गया था। बाद में पुलिस को लुंकड के खिलाफ कई अन्य शिकायतें मिलीं जिसमें लोगों को कथित तौर पर उसी तरीके से ठगा गया था। पुलिस ने बताया कि अमित लुंकड के खिलाफ कई शिकायतें मिलीं। इसमें दावा किया है कि उन्हें भारी रिटर्न की पेशकश कर ठगा गया। इसलिए हमने एमपीआईडी अधिनियम की धारा 3 और 4 को लगाया है। अन्य सभी शिकायतों की जांच जारी है। इन अन्य शिकायतों को भी अदालत के संज्ञान में लाया गया है।

    और भी शिकायतकर्ता होंगे

    पुलिस ने लुंकड़ के लिए सात दिनों की पुलिस कस्टडी की मांग की, लेकिन उसने अदालत को सूचित किया कि वह शिकायतकर्ताओं को राशि चुकाएगा। हालांकि, लुंकड के खिलाफ मिली अन्य शिकायतें की जांच जारी है। पहली शिकायत अंबेगांव बुद्रुक के संजय विलास होनराव (48) की शिकायत के आधार पर येरवडा पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई थी। शिकायत के मुताबिक लुंकड ने निवेश पर हर महीने 15 फीसदी रिटर्न देने का वादा किया था। इस हिसाब से उन्होंने लुंकड रियल्टी में 21.26 लाख रुपये का निवेश किया। हालांकि उन्हें रिटर्न नहीं मिला। जब उन्होंने रिफंड मांगा तो लुंकड ने रिटर्न और मूल राशि देने से इनकार कर दिया। लुंकड ने न केवल होनराव को धोखा दिया, बल्कि उसने दीपक अग्रवाल और मोक्षदा गांधी को भी 30 लाख रुपये का चूना लगाया। शुक्रवार पेठ निवासी हर्षद कटारिया और वानवड़ी निवासी आकाश रस्कर ने भी आर्थिक अपराध शाखा के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस को आशंका है कि और भी शिकायतकर्ता होंगे।