Case registered

    पिंपरी. कोरोना महामारी के मरीजों की संख्या भले ही कम हो गई हो, लेकिन उसका खतरा अभी टला नहीं है। इसी कारण से राज्य सरकार ने लॉकडाउन (Lockdown) की मियाद को 15 जून तक बढ़ा दिया है। एक ओर सरकार और प्रशासन लोगों से कोविड (Covid) की रोकथाम के लिए लागू किए नियमों का कड़ाई से पालन करने की लगातार अपील कर रही है। दूसरी ओर जनता के प्रतिनिधियों द्वारा ही नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है। ताजा मामला पिंपरी-चिंचवड़ (Pimpri-Chinchwad) का है, जिसमें भाजपा के शहराध्यक्ष एवं विधायक महेश लांडगे अपनी बेटी की शादी से जुड़े समारोह में सैकड़ों की भीड़ में झूमकर नाचे। इसका वीडियो वायरल (Video Viral) होने के बाद विधायक और उनके करीबियों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया।

    इस समारोह के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए जिसमें कोरोना के नियमों की धज्जियां उड़ाकर नाचते झूमते खुशियां मनाते हुए विधायक महेश लांडगे और उनके कार्यकर्ता साफ-साफ झलक रहे हैं। आमजनों को शादियों में 20 लोगों की मौजूदगी की अनुमति है। खुले में समारोह के आयोजन, भीड़भाड़ जुटाने के प्रयोजनों पर पूरी तरह से रोक लगाई गई है। इन हालातों में विधायक लांडगे का वीडियो इन नियमों की अमलबाजी पर सवालिया निशान लगाता नजर आ रहा है।

    पुलिस कमिश्नर ने  मामले को गंभीरता से लिया

    हालांकि पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने इस मामले को गंभीरता से लिया और स्थानीय भोसरी पुलिस को तुरंत संबंधितों पर एक्शन लेने के आदेश दिए। इसके बाद भोसरी पुलिस ने विधायक महेश लांडगे, उनके भाई सचिन लांडगे, अजित सस्ते, कुंदन गायकवाड़, राहुल लांडगे, दत्ता गव्हाने, गोपी धावड़े, सुनील लांडे, नितिन गोडसे, प्रज्योत फुगे और अन्य 40 से 50 लोगों के खिलाफ़ कोविड नियमों के उल्लंघन के लिए विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

    क्या है पूरा मामला

    सोमवार को आलंदी में संत ज्ञानेश्वर महाराज मंदिर के सामने भाजपा विधायक महेश लांडगे की पुत्री साक्षी औऱ व्यवसायिक नंदकुमार भोंडवे के पुत्र निनाद का सादगी के साथ विवाह संपन्न हुआ। यह समारोह राजस्थान या गोवा में होना था, लेकिन लॉकडाउन बढ़ने की वजह से यहीं सादगी के साथ यह विवाह संपन्न हुआ। इस विवाह की पूर्व संध्या पर शादी से जुड़े एक समारोह के लिए विधायक के बंगले के बाहर मैदान में मंडप में कोरोना की रोकथाम के लिए लगाए गए निर्बन्धों की धज्जियां उड़ाई गई। इस समारोह में लांडगे के करीबी और कार्यकर्ता झूमकर नाचे।

    नहीं किया गया नियमों का पालन

    उनके आग्रह के चलते विधायक महेश लांडगे भी झूमने का मोह न टाल सके और वे भी सबके साथ थिरके। हालांकि खुशी के माहौल में उनके समेत सभी ने महामारी कोरोना और उसकी रोकथाम के लिए लागू प्रतिबंधों को भूला दिया। न किसी को मास्क पहनने की सुध थी न किसी को सोशल डिस्टन्टिंग की। यहां तक कि ज्यादा भीड़ न जुटाने के आदेश का भी उल्लंघन किया गया। इस बारे में प्रतिक्रिया देते हुए विधायक महेश लांडगे के भाई सचिन लांडगे ने कहा कि इस समारोह में नियमानुसार केवल 25 करीबियों को ही आमंत्रित किया गया था। हालांकि कार्यकर्ता और हितैषी भी मौजूद रहे और सोशल डिस्टन्टिंग का उल्लंघन हुआ। इसके लिए अफसोस जताते हुए लांडगे ने कहा कि प्रशासन की कार्रवाई के लिए हम तैयार हैं। हर हाल में प्रशासन को सहयोग दिया जायेगा।