मनपा स्वास्थ्य विभाग प्रमुख को बदलें

  • कांग्रेस प्रवक्ता गोपाल तिवारी की मांग

पुणे.  पुणे में ‘कोरोना स्थिति’ को संभालने में पूरी बहुमत के साथ सत्ता पर आसीन भाजपा कमजोर पड़ रही है. ऐसा आरोप कांग्रेस प्रवक्ता गोपाल तिवारी ने लगाया है. 

पुणे म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ‘हेल्थ हेड’ उपाय करने में असफल हो रहा है और हेल्थ हेड की भूमिका क्या है? ऐसा सवाल भी तिवारी ने किया है. कोरोना पर प्रभावी उपाय करने के लिए पुणे शहर के लिए एक स्वतंत्र, जानकार और स्थानीय और सक्षम अधिकारी की नियुक्ति करें. ऐसी मांग तिवारी ने सरकार से की है.

भाजपा पर भी लगाए आरोप

भाजपा पुणे में कोरोना की स्थिति को संभाल नहीं पाई, पर्याप्त प्रावधान नहीं कर सकी, स्वास्थ्य प्रमुख उपाय करने में विफल रहे. स्वास्थ्य प्रमुखों को मानदंडों के अनुसार नियुक्त नहीं किया गया है. इसलिए राजीव गांधी मेमोरियल कमेटी के अध्यक्ष और प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता गोपाल तिवारी ने आज यहां पुणे में कॉन्फ्रेंस में मांग की कि प्रभावी स्वास्थ्य उपाय करने के लिए स्वतंत्र अधिकारियों की नियुक्ति की जाए.इस अवसर पर नगर निगम कांग्रेस पार्टी के समूह नेता आभा बागुल भी मौजूद थे.

कोरोना हेल्पलाइन प्रभावी नहीं  

तिवारी ने कहा कि महानगर पालिका के डॉ. रामचंद्र हंकारे  ‘स्वास्थ्य प्रमुख’ के पद के साथ न्याय नहीं कर पा रहे हैं. स्वास्थ्य प्रमुख को मार्च में पूर्वानुमान पत्र में एक आग्रह वृद्धिशील प्रावधान करना था. आयुक्तों, अतिरिक्त आयुक्तों को भी निजी अस्पतालों के साथ अनुबंध करने जैसी चीजों पर ध्यान देना होगा. पुणे नगर निगम ‘हेल्थ हेड्स’ को निगम की स्वास्थ्य प्रणाली और बुनियादी ढांचे पर अधिक ध्यान देने और इसे सक्षम करने की आवश्यकता है, लेकिन कुल मिलाकर, यह पता चलता है कि निजी अस्पतालों के प्रति झुकाव है. तिवारी के अनुसार महानगरपालिका ने सेवानिवृत्त और पूर्व स्वास्थ्य प्रमुखों के साथ कोरोना की स्थिति पर भी चर्चा नहीं की. कोरोना हेल्पलाइन प्रभावी नहीं है. गोपाल तिवारी ने यह भी मांग की कि स्वास्थ्य मुद्दों की देखभाल के लिए एक स्वतंत्र और सक्षम कार्यकारी अधिकारी की नियुक्ति की जानी चाहिए.

कोरोना को रोकने के लिए एक अलग प्रणाली बनानी चाहिए : आबा बागुल

 एक ओर मुंबई में कोरोना संक्रमण नियंत्रण में आ रहा है, तो पुणे में बढ़ रहा है.  भाजपा और नगर निगम की स्वास्थ्य प्रणाली इस स्थिति से निपटने में विफल रही है. मेयर के अलावा, भाजपा का कोई भी व्यक्ति काम नहीं कर रहा है, ऐसा आरोप कांग्रेस नेता आबा बागुल ने लगाया. बागुल ने कहा कि कोरोना को रोकने के लिए नगरपालिका को एक अलग प्रणाली बनानी चाहिए. उन्होंने कहा कि अधिक प्रभावी 24-घंटे हेल्प लाईन स्थापित करने की आवश्यकता है.  बागुल ने कहा कि भाजपा और प्रशासन को सभी दलों, संगठनों और गैर-सरकारी संगठनों के साथ मिलकर काम करना चाहिए. जब तक कि कोरोना वैक्सीन को पेश नहीं किया जाता, तब तक के लिए पुणेकर की प्रतिरक्षा बढ़ाने वाली दवाओं को घर-घर पहुंचाया जाना चाहिए.