Bike boat scam: Raids in several districts including Meerut, 178 motorcycles of the company recovered

    पुणे. महाराष्ट्र (Maharashtra) समेत देश के कई राज्यों में हजारों निवेशकों (Investors) और किसानों (Farmers) के साथ आर्थिक धोखाधड़ी (Financially Fraudulent) करने वाले समृद्ध जीवन कंपनी के घोटाले (Samruddhi Jeevan Company Scam) के कई फाइलें इससे पहले ही जब्त की जा चुकी है। अब सीआईडी ने इस मामले की जांच करते हुए आज तक छिपाकर रखे गए महत्वपूर्ण कागजात की दूसरी किश्त भी जब्त कर ली है। समृद्ध जीवन घोटाला मामले में कागजात की पहली किश्त सप्ताह भर पहले पुणे के नरहे इलाके से जब्त की गई थी।

    सीआईडी यानी क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट ने इस मामले में कागजात की दूसरी किश्त पुणे शहर के धायरी से जब्त की है। सीआईडी द्वारा नरहे की एक सोसायटी से कागजात जब्त किये जाने के बाद बुधवार को धायरी के एक घर में छापा मारा। इस घर में आज तक छिपाकर रखे गए काफी सारे कागजात सीआईडी के हाथ लगे है। आगे की जांच के लिए इन फाइलों को जब्त किया गया है। संबंधित फाइलों की स्टडी कर मामले की जांच में अहम जानकारी सीआईडी को मिलने की उम्मीद है।

    खेती के पूरक व्यवसाय के रूप में बकरी पालन और अन्य बिज़नेस से बड़ा आर्थिक फायदा का लालच देकर महेश मोतेवार और उसकी समृद्ध जीवन कंपनी के साथियों ने देश के कई राज्यों में लोगों के साथ ठगी की है। इस मामले में महेश मोतेवार के खिलाफ देश के 22 राज्यों में 28 केस दर्ज किया गया है। समृद्ध जीवन घोटाला की व्यापकता बड़ी होने की वजह से इसकी जांच सीआईडी को सौंपी गई है। इस मामले में कुल 25 लोग शामिल है जिनमें से 17 लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। जबकि 8 लोग फरार है। महेश मोतेवार फ़िलहाल उड़ीसा में जेल में बंद है।इस मामले की जांच सीआईडी के आर्थिक अपराध शाखा के पुलिस अधीक्षक संदीप दिवान कर रहे है।