Vaccination1

    पुणे. पिछले कुछ दिनों से पुणे शहर (Pune City) में कोरोना के रोगियों (Corona Patients) की बढ़ती संख्या को देखते हुए पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) के सभागृह नेता गणेश बिडकर (Ganesh Bidkar) ने मांग की है कि 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना के खिलाफ टीकाकरण (Vaccination) की अनुमति दी जानी चाहिए। इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Union Health Minister Harsh Vardhan) को पत्र (Latter) भेजा गया है। 

    कोरोना के मरीजों में इजाफा हो रहा है और पिछले कुछ दिनों में शहर में हर दिन 2,800 से 3,000 संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर है। पिछले साल मार्च से देश भर में कोरोना का प्रसार बढ़ रहा है। सबसे ज्यादा नुकसान मध्यम वर्ग को हुआ।  इस महामारी के कारण पूरे विश्व में मंदी आई है।  इस बीमारी से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू किया गया है। इस टीकाकरण से लाभान्वित होने के दौरान सकारात्मक रोगियों की संख्या अचानक बढ़ रही है। वर्तमान में पुणे शहर में 23,000 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज हैं और अब तक 5,000 से अधिक लोग मारे गए हैं। कोरोना के नए वायरस के खिलाफ लड़ाई जारी है। सभागृह नेता बिडकर  ने मांग की है कि पुणे शहर में 18 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों को कोरोना के खिलाफ टीकाकरण की अनुमति दी जानी चाहिए। पुणे महापालिका इस टीकाकरण अभियान के कार्यान्वयन के साथ-साथ इसकी लागत के लिए जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार है। 

    मनपा भेजेगी प्रस्ताव 

    बिड़कर ने कहा कि टीकाकरण अभियान का फायदा हो ही रहा था की पुरे महाराष्ट्र मे कोरोना महामारी की दूसरी लहर आ गई। इसी वजह से पुणे शहर के हालात पहले से भी ज्यादा खराब हो गए। एक ओर टीकाकरण जारी है तो दूसरी ओर नए पेशन्ट का विलगीकरण किया जा रहा है। कोरोना के नए स्ट्रेन से लड़ने की पुरी कोशिश की जा रही है, लेकिन ऐसे कई कारण है जिनकी वजह से मरीजों की संख्या बढ़ रही है । उनमें से एक महत्वपूर्ण कारण है युवाओं को काम की वजह से घर से बाहर निकलना पड़ता है। बिड़कर ने कहा कि पत्र द्वारा हम आपसे अनुरोध करते है की पुणे शहर मे स्थित 18 आयु से अधिक सभी नागरिकों का टीकाकरण करने की अनुमति मिले। अभियान की संपूर्ण जिम्मेदारी और उसके लिए आवश्यक खर्च पुणे मनपा की ओर से किया जाएगा। अनुमति प्राप्त होने पर पुणे महानगरपालिका की ओर से प्रस्ताव भेजने की व्यवस्था की जाएगी।