गुणवत्ता और गति के साथ  ‘स्मार्ट सिटी’ के काम पूरा करें

  • उप मुख्यमंत्री अजीत पवार के निर्देश

पुणे. पुणे शहर में ‘स्मार्ट सिटी’ के तहत किए जा रहे काम को शहर की सुविधाओं, सुंदरता और भव्यता से जोड़ना चाहिए. इन कार्यों को गुणवत्ता और समय पर पूरा किया जाना चाहिए. कार्य में पारदर्शिता होनी चाहिए. फंड का सही इस्तेमाल होना चाहिए. उप मुख्यमंत्री और पालकमंत्री मंत्री अजीत पवार ने यह निर्देश दिए हैं. 

उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों और ‘स्मार्ट सिटी’ मिशन के निर्देशों का पालन करते हुए ‘स्मार्ट सिटी’ के संदर्भ में पुणे शहर की राष्ट्रीय रैंकिंग में सुधार करने का प्रयास किया जाना चाहिए.

समय पर हो काम

पुणे स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के स्मार्ट सिटी एडवाइजरी फोरम ’की पांचवीं बैठक आज पुणे के काउंसिल हाल में उप मुख्यमंत्री अजीत पवार की अध्यक्षता में हुई. उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पुणे स्मार्ट सिटी के तहत किए जाने वाले सभी प्रोजेक्ट गुणवत्ता वाले होने चाहिए. सभी परियोजनाओं को समय पर पूरा करने की योजना बनाए. इस परियोजना के लिए केंद्र सरकार, राज्य सरकार और महापालिका से प्राप्त धन की उचित योजना के साथ समय पर काम किया जाना चाहिए. उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि देश में पुणे स्मार्ट सिटी की रैंकिंग में सुधार करने की कोशिश करें.

जानकारों के लें सुझाव

 परियोजना को लागू करते समय जनप्रतिनिधियों और अनुभवी विशेषज्ञों के सुझावों को ध्यान में रखते हुए ‘स्मार्ट सिटी मिशन’ के दिशा-निर्देशों के अनुसार कार्य किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि डिविजनल कमिश्नर, कमिश्नर और स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के समन्वय में काम को जल्द से जल्द पूरा किया जाना चाहिए. सांसद गिरीश बापट सहित उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने स्मार्ट सिटी के तहत परियोजना के संबंध में कई उपयोगी सुझाव दिए. उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि परियोजना के तहत विभिन्न विकास कार्यों को तेजी से पूरा किया जाना चाहिए. पुणे स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. संजय कोलते  ने स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे काम की जानकारी दी.

डिविजनल कमिश्नर आयुक्त, कमिश्नर और स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के समन्वय में काम को जल्द से जल्द पूरा किया जाना चाहिए. -अजीत पवार, उप मुख्यमंत्री