File Photo
File Photo

    पिंपरी. महामारी कोरोना (Corona) के बढ़ते संक्रमण के बीच पिंपरी-चिंचवड शहर (Pimpri-Chinchwad City) में मरीजों (Patients) की संख्या कुछ दिन से स्थिर नजर आ रही है। शहर में मरीजों के डबलिंग की रफ्तार 70 दिन पर पहुंच गई है। वहीं नए मरीजों (New Patients) की तुलना में इलाज के बाद स्वस्थ होने का संख्या लगातार बढ़ रही है। आंकड़ों के अनुसार, पिंपरी-चिंचवड़ में महामारी का रिकवरी रेट 87.07 और डेथ रेट 1.36 फीसदी दर्ज हुआ है। हालांकि गत कुछ दिन से शहर में मृत्यु का प्रमाण बढ़ रहा है।

    महानगरपालिका के चिकित्सा विभाग के प्रमुख डॉ. लक्ष्मण गोफणे के अनुसार, अप्रैल के पहले सप्ताह में मरीजों की संख्या के डबलिंग की रफ्तार 64 दिन थी जो दूसरे सप्ताह में बढ़कर 68 और आखिरी सप्ताह में 70 दिन पर पहुंच गया है। डबलिंग की कालावधि बढ़ रही है, बीते सप्ताह गुरुवार शहर में पॉजिटिविटी रेट 22.56 फीसदी था। फरवरी से मार्च इस एक माह में शहर में मरीजों की संख्या चार गुना बढ़ गई थी। उसकी तुलना में अब मरीजों की संख्या स्थिर नजर आ रही है। 

    शहर में बढ़ा दिए गए टेस्टिंग 

    पिंपरी-चिंचवड़ में 31 मार्च तक, शहर में 17,816 सक्रिय मरीज थे। 29 अप्रैल को, 22,451 सक्रिय मरीज थे। मार्च की तुलना में अप्रैल में मरीजों  में वृद्धि कुछ हद तक धीमी हो गई है। साथ ही मरीजों की दैनिक संख्या की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अधिक रहने से मार्च की तुलना में अप्रैल में सक्रिय मरीजों की संख्या में अधिक वृद्धि नहीं हुई। मार्च में शहर में 34089 मरीज पंजीकृत हुए थे। वहीं रोगियों की दैनिक संख्या तीन से साढ़े तीन हजार से अधिक हो गई थी। इसके अलावा सकारात्मकता दर 40 से 54 हो गई। वर्तमान में शहर में दैनिक टेस्टिंग बढ़ा दिए गए हैं। प्रतिदिन औसतन 11,000 टेस्ट किए जा रहे हैं। ऐसे परीक्षणों के बाद मरीजों की संख्या हर दिन दो से ढाई हजार के बीच पाई जा रही है।