पिंपरी-चिंचवड़ में 86 हजार से ज्यादा लोगों की कोरोना टेस्ट निगेटिव

पिंपरी. महामारी कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच पिंपरी-चिंचवड शहर में अब तक एक लाख 11 हजार 557 लोगों की कोविड टेस्ट की जा चुकी है. इसमें से 86 हजार से ज्यादा लोगों की रिपोर्ट्स निगेटिव आई हैं, जबकि अब तक कुल 24 हजार 311 लोग संक्रमित पाए गए हैं. यूं तो महामारी का संक्रमण मार्च से शुरू हुआ मगर सही मायने में जुलाई माह से इसकी रफ्तार बढ़ गई. जहां मार्च में मात्र 14 मरीज शहर में संक्रमित पाए गए थे वहीं जून के अंत तक यह आंकड़ा 3 हजार तक पहुंच गया. जुलाई में मात्र संक्रमितों की संख्या 18 हजार पार कर गई.

अप्रैल के पहले सप्ताह तक जहां माना जा रहा था कि पिंपरी-चिंचवड़ पहला कोरोना मुक्त शहर साबित होगा, मगर इसके दूसरे सप्ताह से महामारी के दूसरे चरण की शुरुआत हुई और संक्रमितों की संख्या बढ़ती ही चली गई. संक्रमितों का आंकड़ा जून के अंत तक तीन हजार, जुलाई के अंत तक 18 हजार पार कर गया. अब 4 अगस्त तक यह आंकड़ा 24 हजार 311 तक पहुंच गया है. संक्रमितों के आंकड़े लगातार बढ़ते रहने के बीच शहर में कोरोना का रिकवरी रेट यानी मरीजों के स्वस्थ होने का प्रमाण 67 फीसदी से ज्यादा है. कल तक शहर में 17 हजार 106 मरीज कोरोना को मात देकर अस्पताल से घर लौट चुके हैं.

 111 दिनों में 77 मरीजों की मौत

जुलाई महीने में महामारी के संक्रमितों के बढ़ने के अलावा कोरोना से मृत्यु होने का प्रमाण बढ़ने के लिहाज से भी खतरनाक साबित हुआ. जून के अंत तक पिंपरी-चिंचवड़ शहर और शहर में इलाज करवा रहे दूसरे शहर, जिले, तालुकों के कुल 77 मरीजों की मौत हो हो गई है. यानी महामारी के संक्रमण की शुरुआत से लेकर के 111 दिनों में 77 मरीज मौत के मुंह में चले गए. मगर अगले 35 दिनों में मरने वालों का आंकड़ा 505 तक पहुंच गया. इसमें 408 मरीज पिंपरी-चिंचवड़ शहर और 97 मरीज पुणे और दूसरे शहर, जिले और तालुकों के रहिवासी हैं. भले ही शहर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या की तुलना में मृत्यु का प्रमाण कम हो मगर एक माह में बढ़ी मरनेवालों की संख्या चिंता बढ़ानेवाली जरूर है.