आईआईटीएम में कोरोना की एंट्री, बंद रहेगा देश का सुपर कंप्यूटर

पुणे. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मेटेरॉलजी (आईआईटीएम) के पुणे स्थित दफ्तर में एक आईटी कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आया है, जिसके बाद यह परिसर सील कर दिया गया है. भारत का सबसे तेज सुपर कंप्यूटर प्रत्युष अब सोमवार तक बंद रहेगा.

आईआईटीएम प्रशासन और पुणे मनपा ने फैसला लिया है कि अब कैंपस को सैनिटाइज करने के बाद ही फिर से खोला जाएगा. जब तक सैनिटाइजेशन का काम पूरा नहीं होता है, तब तक ‘प्रत्युष’ और ‘आदित्य’ समेत दूसरे सुपर कंप्यूटर्स बंद रहेंगे.

 पॉजिटिव के संपर्क में आया था शख्स

बताया जा रहा है कि जिस शख्स को कोरोना पॉजिटिव हुआ है, वह एक कोविड पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आया था. आईआईटीएम के प्रशासन के अनुसार विभाग में एक कर्मचारी पॉजिटिव पाए जाने के बाद पूरा परिसर सील कर दिया गया है. अब केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सैनिटेशन का काम पूरा होने के बाद ही कैंपस के दफ्तर खोले जाएंगे. कैंपस के बंद होने से सुपर कंप्यूटर का काम भी बंद रहेगा, इसलिए अब मौसम की जानकारी का काम नोएडा के दफ्तर में शिफ्ट किया गया है. यह पहली बार है जब सुपर कंप्यूटर का काम बंद हुआ है. वैज्ञानिकों ने बताया कि यहां पर दो सुपरकंप्यूटर हैं.

कभी भी बंद नहीं हुआ सेंटर

मरम्मत का काम होने पर काम 12 से 18 घंटे लेट हो जाता है, लेकिन बंद कभी नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि सोमवार को अब कैंपस खुलेगा और सिस्टम शुरू होने में अगले 24 घंटे लगेंगे. इसलिए अब सिस्टम का इस्तेमाल मंगलवार को ही हो पाएगा. गौरतलब हो कि महाराष्ट्र में मुंबई के बाद कोरोना के सर्वाधिक मामलों वाले जिले के रूप में पुणे जिला दूसरे नंबर पर है. जिले में पुणे में इस महामारी के सर्वाधिक मरीज मिले हैं. लॉकडाउन शिथिल करने के बाद तो पुणे में कोरोना महामारी के मामले थम नहीं रही हैं. अब तक यहां संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 15 हजार पार कर चुका है. यहां इस महामारी ने अब तक 584 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है.