Gopal Tiwari Congress pune

     पुणे. महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता (Maharashtra Pradesh Congress spokesperson) गोपाल तिवारी (Gopal Tiwari) का आकलन है कि महाविकास आघाड़ी  सरकार की काल में अपराध दर में भाजपा सरकार (BJP Government) की तुलना में कमी आई है। इसकी जानकारी उन्होंने ट्वीट कर दी है। गोपाल तिवारी के अनुसार, तत्कालीन यानी पूर्व मुख्यमंत्री और गृह मंत्री नागपुर के थे, लेकिन हाईकोर्ट के जस्टिस लोया की नागपुर में संदिग्ध मौत हो गई थी। 

    क्या तत्कालीन मुख्यमंत्री और गृह मंत्री भूल गए कि गोविंद पानसरे की हत्या, कोपर्डी में दुर्भाग्यपूर्ण घटना, भीमा कोरेगांव दंगे, और नागपुर में बढ़ते अपराध सभी फड़नवीस सरकार के कार्यकाल में हुए। ऐसा सवाल तिवारी ने किया साथ ही कहा कि उच्चतम अपराध दर राज्य में सबसे अधिक उनके काल में ही था।

    विपक्षी नेता लें जानकारी

    तिवारी ने कहा कि यह तथ्य कि महाविकास गठबंधन सरकार के सत्ता में आने के बाद से राज्य में बच्चों और महिलाओं के खिलाफ अपराध दर में लगभग 30 प्रतिशत की कमी आई है। विपक्षी नेताओं को कम से कम राज्य में गिरती अपराध दर के बारे में पता होना चाहिए। तिवारी ने विपक्ष के नेता से भी पूछा है कि अब किसका चेहरा काला पड़ गया है। लेकिन हम ऐसा नहीं कहेंगे, क्योंकि हमारे पास वे संस्कार नहीं हैं। तिवारी ने फडणवीस से राज्य में गृह विभाग के वास्तविक आंकड़ों का अध्ययन करने और उस पर चिंतन करने की भी अपील की है।