देहूरोड हत्याकांड की गुत्थी सुलझी

  • यौन प्रताड़ना से तंग आकर पत्नी ने ही कर दी पति की हत्या

पिंपरी. देहूरोड के मामूर्डी में दिहाड़ी मजदूर की हत्या की गुत्थी को पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस की क्राइम ब्रांच के यूनिट-5 ने सुलझा लिया है. मयूर मोईन गायकवाड (28) नामक युवक की हत्या के आरोप में उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया गया है. पति के द्वारा की जा रही यौन प्रताड़ना से तंग आकर उसने यह खतरनाक कदम उठाया, ऐसा पुलिस ने बताया है.गिरफ्तार पत्नी का नाम रितू मयूर गायकवाड (20) है.

दोनों के बीच अक्सर झगड़े होते थे

दिहाड़ी मजदूरी करनेवाले मयूर ने डेढ़ साल पहले रितु के साथ प्रेम विवाह किया था.दोनों के बीच अक्सर झगड़े होते थे, कई बार वह घर छोड़ कर चली जाती थी.सोमवार की दोपहर भी वह घर से चली गई और रात में वापस लौटी. मयूर की मां और भाई एक हॉस्पिटल में नौकरी करते हैं, नाइट शिफ्ट रहने से वे ड्यूटी पर चले गए. घर पर दोनों पति पत्नी ही थे. सुबह 6 बजे के करीब मयूर खून से लथपथ अवस्था मे मिला. सिर पर फावड़े के डंडे से प्रहार कर और गले पर वार कर उसकी हत्या कर दी गई.इस बारे में मयूर के भाई ओमकार गोविंद गायकवाड (25) ने देहूरोड पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है.

4 दिन से कर रही थी प्लानिंग

क्राइम ब्रांच यूनिट-5 के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक बालकृष्ण सावंत ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी रितु ने पुलिस को बताया कि मयूर उसकी यौन प्रताड़ना करता था.इस बारे में उसने आने ससुराल वालों से शिकायत भी की थी, लेकिन कोई फर्क पड़ा. इसलिए उसने मयूर को रास्ते से हटाने की साजिश रची. इस कड़ी में वह गत 4 दिन से पड़ोस की महिला और छोटे बच्चों के साथ मॉर्निंग वॉक पर जाने लगी. साथ ही पति के घर पर अकेले रहने का इंतजार करने लगी. सोमवार को उसकी सास हॉस्पिटल में नाईट ड्यूटी पर चली गई, जेठ भी रात में लौटने वाला नहीं था. रात 11 बजे मयूर शराब के नशे में चूर होकर घर आया. रितु रातभर उसे मारने के बारे में सोचती रही.

 अकेला पाकर बोला हमला

रोज की तरह मंगलवार के तडके रितु मॉर्निंग वॉक पर चली गई. लौटने पर मयूर को नींद में पाया.उसने फावड़े से उसके सिर पर मारा और गले पर वार किया. इस हमले के बाद कपड़ों पर उड़े खून को पानी से साफ करने के बाद वह फिर पड़ोस के बच्चों के साथ साइकलिंग के लिए चली गई. सुबह सवा सात बजे लौटने पर यह दिखाने के लिए की उसकी गैरमौजूदगी में किसी ने मयूर की हत्या कर दी, शोरगुल मचाना शुरू किया.यही नहीं पड़ोसियों के इकट्ठा होने के बाद उसने बेहोश होने का नाटक भी किया. मयूर के भाई ओमकार ने पुलिस को शादी के बाद से ही रितु के संदिग्ध बर्ताव के बारे में बताया था. इसलिए पुलिस को उस पर शक हुआ.

हिरासत में सख्ती के बाद जुर्म कबूला

पुलिस ने रितु को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की.थोड़ी सी सख्ती के बाद उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया.पति के द्वारा की जाने वाली यौन प्रताड़ना से तंग आकर उसने उसकी हत्या कर दी, ऐसा उसने पुलिस को बताया.इन तरह से वारदात के चंद घंटों में ही हत्या की यह गुत्थी सुलझ गई.इस पूरी कार्रवाई को यूनिट-5 के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक बालकृष्ण सावंत, सहायक निरीक्षक राम गोमारे, कर्मचारी दत्तात्रय बनसुडे, मयूर वाडकर, संदिप ठाकरे, धनराज किरनाले, ज्ञानेश्वर गाडेकर, श्यामसुंदर गुट्टे, धनंजय भोसले, स्वामीनाथ जाधव, सावन राठोड, फारुक मुल्ला, नितीन बहिरट, भरत माने, राजकुमार इघारे, गणेश मालुसरे व राजेंद्र कदम के समावेश वाली टीम ने अंजाम दिया.