डॉ. रामचंद्र हंकारे का तबादला, डॉ. आशीष भारती  नए स्वास्थ्य प्रमुख

पुणे. शहर पिछले 6 से 7 महीनों से कोरोना संकट का सामना कर रहा है. इस दौरान मनपा के स्वास्थ्य प्रमुख डॉ. रामचंद्र हनकारे का राज्य सरकार ने तबादला कर दिया है. उनकी जगह पर अब डॉ. आशीष हीरालाल भारती स्वास्थ्य प्रमुख की जिम्मेदारी संभालेंगे. राज्य सरकार द्वारा हाल ही में यह निर्देश जारी किए गए है.

डॉ. हंकारे ने बदली की मांग की थी

डॉ. हंकारे के अनुरोध पर उन्हें सहायक स्वास्थ्य सेवा, पुणे में स्थानांतरित कर दिया गया है.  पुणे मनपा में 25 सितंबर 2018 को हंकारे  को प्रतिनियुक्ति पर स्थानांतरित किया गया था. राज्य सरकार ने आदेश में कहा था कि यह 2 साल के लिए होगा. एक अन्य स्वास्थ्य प्रमुख, डॉ. नितिन बिलोलिकर को मनपा में आने कके बाद 15 दिनों के भीतर कोरोना हुआ.  वह तब से मेडिकल लीव पर है. इस बीच शहर में बड़ी संख्या में परीक्षणों के कारण रोगी आगे आ रहे हैं.  इसके अलावा, मृत्यु दर घट रही है. मैं इस दौरान सभी को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं. ऐसा रामचंद्र हमकरे ने कहा.  इस बीच, बढ़ती कोरोना की पृष्ठभूमि पर, डॉ. हंकारे  ने निजी अस्पतालों में काफी बातचीत की थी. उन्होंने मरीजों के लिए बेड लाने की कोशिश की.

अब डॉ. भारती से पुणेकरों की उम्मीदें बढ़ीं

स्वास्थ्य विभाग प्रमुख का पद विभिन्न शर्तो की वजह से हमेशा विवाद में रहता है. क्योंकि इन शर्तो के नुसार मनपा का एक भी अधिकारी इसके लिए पात्र नहीं हो पाता है. इस वजह से इसके लिए सरकार पर अवलम्बित रहना पड़ता है. लेकिन पुणे से स्थानीय अधिकारी देने की मांग की जाती है. क्योंकि मनपा में लगभग 4. स्वास्थ्य अधिकारी वरिष्ठ है. इसमें डॉ. कल्पना बलिवन्त, डॉ. अंजली साबणे, डॉ वैशाली जाधव व डॉ. संजीव वावरे का समावेश है.

ये लोग पात्रता में बैठ नहीं पाते. इस वजह से इनमें से किसी को अवसर नहीं मिल रहा है. जबकि इन लोगों का कई सालों का अनुभव है. इनके अनुभव का लाभ उठाना आवश्यक है. उसके लिए शर्तो को शिथिल करने की कार्यवाही सरकार द्वारा होना आवश्यक है. लेकिन अब इस बार भी मनपा अधिकारीयों के हाथ से यह अवसर छुट गया है. सरकार ने आशीष भारती को 1 साल के लिए नियुक्त किया है. इस वजह से अब शहर की स्थिति को सुधारने के पुणेकर डॉ. भारती से उम्मीद लगाए बैठे हैं.