CP Krishna prakash

    पिंपरी. कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस आयुक्तालय (Pimpri-Chinchwad Police Commissionerate) में नागरिकों के लिए ‘नो एंट्री’ (No Entry) की घोषणा की गई है। अगर किसी नागरिक को किसी बेहद जरूरी काम के लिए पुलिस कमिश्नर (Police Commissioner) से मिलना जरूरी है तो वे अपॉइंटमेंट लेकर और कोरोना संबन्धी सभी नियमों का पालन कर मिल सकते हैं। इसकी जानकारी पुलिस कमिश्नर कृष्ण प्रकाश (Police Commissioner Krishna Prakash) ने दी है।

    कोरोना का संक्रमण पिंपरी-चिंचवड़ शहर में बड़ी तेजी से फैल रहा है। पुलिस आयुक्तालय भी इससे अछुता नहीं रहा है। आज की तारीख में करीबन 70 पुलिस अधिकारी और कर्मचारी कोरोना से बाधित हैं। शहर में अलग पुलिस आयुक्तालय शुरू होने के बाद से नागरिकों की पुलिस से उम्मीदें काफी बढ़ गई हैं। अपनी शिकायतों और समस्याओं के लिए आयुक्तालय में लोगों की भीड़ उमड़ रही है। ऐसे में अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। 

    लेना होगा अपॉइंटमेंट

    कोरोना के फैलाव के मद्देनजर आयुक्तालय में बेवजह होनेवाली भीड़ पर नियंत्रण रखने का फ़ैसला किया गया है। अगर कोई गंभीर शिकायत या समस्या है तो लिखित रूप से आयुक्तालय तक पहुंचाएं। पुलिस कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने नागरिकों से अपील की है कि कोरोना के संक्रमण काल में बेवजह पुलिस आयुक्तालय में न आएं। अगर किसी मामले में अगर कमिश्नर से मिलना बेहद जरूरी हो तब ही अपॉइंटमेंट लेकर नियमों का पालन करते हुए मिला जा सकता है। 

    …तो उसकी रिकॉर्डिंग निकालकर पुलिस कमिश्नर को भेजें 

    पुलिस कमिश्नर ने यह भी कहा कि कोई भी पुलिस अधिकारी या कर्मचारी पीड़ित नागरिक से पैसों की मांग करता है तो उसकी रिकॉर्डिंग निकालकर पुलिस कमिश्नर को 9134424242 पर भेजें। अगर कोई भी पुलिस अधिकारी या कर्मचारी इस तरह की शिकायतों में दोषी पाया गया तो उसे बिल्कुल भी बख्शा नहीं जाएगा, संबंधितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस कमिश्नर द्वारा जारी किए गए नंबर पर नागरिक शहर के अवैध धंधों के बारे में भी शिकायत या जानकारी दे सकते हैं।