कौशल विकास कर शिक्षकों के बच्चों को दिलाया जाएगा रोजगार

  • पुणे विभाग शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार प्रा. प्रकाश पाटिल का आश्वासन

पुणे. कौशल विकास किसी भी व्यक्ति को रोजगार दिलाने वाली कुंजी है. इसे देखते हुए केंद्र सरकार की ओर से अभी कौशल विकास पर काफी ज्यादा बल दिया जा रहा है. 

इसे देखते हुए आने वाले समय में पुणे विभाग के जिलों में रहने वाले शिक्षकों के बच्चों में कौशल विकास के प्रयास कर उन्हें 100 प्रतिशत रोजगार दिलाने का कार्य किया जाएगा. ऐसा आश्वासन पुणे विभाग शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार प्रा. प्रकाश राजाराम पाटिल ने दिया.

नामांकन दर्ज किया

पुणे विभाग शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के लिए अपना नामांकन दर्ज कराने के बाद प्रा. प्रकाश पाटिल ने नवभारत कार्यालय को भेंट की. इस समय उन्होंने अब तक किए अपने कार्य और भविष्य की योजनाओं के संदर्भ में विस्तार से जानकारी दी. प्रा. पाटिल ने कहा कि पुणे विभाग में आने वाले पुणे, सांगली, सोलापुर, सातारा और कोल्हापुर जिले में बड़ी संख्या में शिक्षक अध्यापन का कार्य कर देश के भविष्य को बेहतर बनाने का कार्य कर रहे है. ऐसे में उनके बच्चों के भविष्य के संदर्भ में भी गंभीरता से विचार होना जरुरी है. इसे देखते हुए हम सभी शिक्षकों के बच्चों को कौशल प्रशिक्षण देने का कार्य प्रारंभ किया है. इसमें 18 से 30 वर्ष की आयु के 10वीं, 12वीं पास छात्रों को फीटर, टर्नर, मशीनिस्ट, इलेक्ट्रॉनिक, वेल्डर, पेंटर, इलेक्ट्रिकल, ग्राइंडर और विभिन्न ट्रेड का प्रशिक्षण दिया जाएगा. इसके अलावा सीएनसी/वीएमसी ऑपरेटर, डीएमई, बीई, बीएससी और विभिन्न तरह शिक्षा और कौशल प्राप्त छात्रों को रोजगार दिलाने का कार्य करेंगे.

आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में हम काम करेंगे

उन्होंने बताया कि हमारा काम बच्चों को कौशल प्रशिक्षण दिलाने के साथ-साथ उन्हें रोजगार की गारंटी दिलाने का भी है. कौशल प्राप्त छात्रों को 10 हजार से लेकर 14 हजार रुपयों तक छात्रों को स्टाइपेंड दिलाते हुए उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में हम काम करेंगे. इसके अलावा शिक्षा क्षेत्र में ठेका पद्धति को खत्म कर सभी शिक्षकों को स्थायी बनाकर उन्हें भी आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रयास किया जाएगा, ऐसी जानकारी प्रा. प्रकाश पाटिल ने दी.