Woman's body recovered from bushes, fear of murder after rape

लोनावला. मावल के वाहनगांव के समीप की गई फायरिंग में गंभीर रूप से घायल फार्म हाउस के मैनेजर मिलिंद मणेरीकर ने पुणे के दीनानाथ मंगेशकर हॉस्पिटल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. मणेरीकर की मौत के बाद पुलिस ने अब हत्या का केस दर्ज किया.

वड़गांव पुलिस ने बताया कि मणेरीकर वाहनगांव के पास स्थित संकल्प फार्म हाउस में पिछले कुछ वर्षों से बतौर प्रबंधक कार्यरत थे. गत 22 जुलाई की सुबह वे अपने सहकर्मी चेतन निमकर के साथ कार से फार्म हाउस की तरफ जा रहे थे, वाहनगांव के पास पहुंचने पर उनकी कार के पीछे एक बाइक पर आये दो हमलावरों ने हाथ दिखाकर कार को रोका. दोनों के चेहरे पर मास्क था. उन्होंने मणेरीकर को पूछा कि हांडी फार्म कहां है? मणेरीकर द्वारा पता बताने के लिए खिड़की का कांच नीचे करते ही देसी कट्टे से उन पर फायरिंग कर दी. 

पुलिस की जांच जारी

तलेगांव दाभाडे निवासी 50 वर्षीय मणेरीकर पर 22 जुलाई को बाइक से आये दो अज्ञात हमलावरों ने फायरिंग की थी. वारदात को सप्ताह होने के बावजद आरोपियों का सुराग लगाने में पुलिस नाकाम रही. उनकी हत्या की वजह का अब तक पता नहीं लग सका है. इस संबंध में पुलिस अधिकारी बस इतना ही बता रहे हैं कि जांच जारी है. वारदात के समय उनके साथ यात्रा कर रहा उनका सहकर्मी इस घटना का गवाह है. इसके अलावा उस क्षेत्रों की कंपनियों की ओर जाने के लिए यही एक रूट है और वहां गाड़ियों की, आवाजाही रहती है. लोग चर्चा के जरिए यही सवाल उठा रहे हैं कि आखिर इस मर्डर मिस्ट्री पर से कब पर्दा उठेगा?