Kamala Nehru Hospital PUNE

पुणे. भंडारा (Bhandara) में नवजात शिशुओं के आईसीयू (ICU)में हुए भीषण अग्नितांडव से सबक लेते हुए पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) ने अपने सभी शिशु अस्पतालों खासकर अतिदक्षता कक्षों का फायर ऑडिट (Fire Audit) शुरू कर दिया है। 

अब तक 3 नवजात शिशुओं के आईसीयू कक्ष का फायर ऑडिट पूरा हो चुका है। इन अस्पतालों में कुछ मामूली मेंटेनेंस की आवश्यकता है जिसे शुरू करवाने की जानकारी पुणे मनपा स्वास्थ्य विभाग प्रमुख डॉ. आशीष भारती ने पत्रकारों को दी।

3 अस्पतालों का ऑडिट पूरा

उन्होंने बताया कि पुणे मनपा के कमला नेहरू अस्पताल, येरवडा के राजीव गांधी अस्पताल और सोनवणे हास्पिटल एंड प्रसूतिगृह का फायर ऑडिट पूरा करवा लिया गया है। यहां कुछ मामूली सुधार किए जाने की बात सामने आई है, बाकी व्यवस्था नियमानुसार है।

भंडारा हादसे से लिया सबक

भंडारा हादसे के बाद पुणे मनपा स्वास्थ्य प्रमुख डॉ. आशीष भारती ने पहले चरण में तत्काल मनपा के नवजात शिशुओं के विभागों सहित समूचे अस्पताल के फायर ऑडिट का आदेश दिया, जिसके बाद पुणे मनपा अग्निशमन विभाग प्रमुख प्रशांत रणपिसे ने विशेष टीम के माध्यम से फायर ऑडिट करवाया।

निजी अस्पतालों से भी मंगवाई फायर ऑडिट रिपोर्ट

गौरतलब है कि पुणे शहर में 718 निजी अस्पताल हैं, जिसमें प्रसूति के लिए आईसीयू और एनआईसीयू हैं। इन सभी से फायर आडिट प्रमाण पत्र मनपा ने तलब किया है। यह जानकारी सहायक स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीषा नाईक ने दी है।