arrest

पुणे. आंबेगांव बुद्रुक में कचरा प्रोजेक्ट में आग लगाने वाले पूर्व नगरसेवक शंकरराव बेलदरे (55) और उनके बेटे कुणाल बेलदरे (35) को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया. आंबेगांव बुद्रुक स्थित कचरा प्रोजेक्ट में आग लगाने के मामले में भारती विद्यापीठ पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया था.

इस मामले में 15 से 20 लोगों के खिलाफ मनपा के ठेकेदार मिलिंद पवार (हडपसर) ने शिकायत दर्ज कराई थी. इस प्रोजेक्ट में लगाई गई आग कई दिनों तक जलती रही. मनपा द्वारा बनाए गए इस कचरा प्रोजेक्ट को हटाने के लिए एक नवंबर को सर्वदलीय आंदोलन किया गया था. यहां पर हिंसक हुए स्थानीय नागरिकों ने कार्यालय और प्रोजेक्ट में आग लगा दी थी. 

बड़ी संख्या एकत्रित हो गए 

पवार द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट के अनुसार, अज्ञात व्यक्ति ने गैरकानूनी तरीके से भीड़ जमा कर प्रकल्प पर हमला किया और पवार की जेसीबी और पोकलेन मशीन में तोड़फोड़ की. जिसमें मनपा की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया. इस बीच शंकरराव बेलदरे को गिरफ्तार करने की जानकारी मिलते ही उसके समर्थक बड़ी संख्या एकत्रित हो गए और उनकी गिरफ्तारी को अवैध बताने लगे. पुलिस द्वारा गिरफ्तारी नियमानुसार ही हुई है. अन्य आरोपियों की तलाश किए जाने की जानकारी वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक जगन्नाथ कलसकर ने दी.