Gandhigiri movement by distributing sweets against fuel rate hike

    पिंपरी. देश में पेट्रोल, डीजल (Petrol, Diesel) और घरेलू गैस (Domestic Gas) की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। पेट्रोल-डीजल के रेट सदी के आंकड़े को पार कर गया है। केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाकर पेट्रोल-डीजल का ऐतिहासिक महत्व (Historical Importance) बढ़ा दिया साथ ही एक सराहनीय काम किया है, जिसके विरोध में लोगों ने मिठाई बांटकर गाँधीगिरी के (Gandhigiri) तरीके से केंद्र सरकार को बधाई दी है। 

    पिंपरी चिंचवड़ के अपना वतन संगठन के कार्यकर्ताओं ने रिक्शा चालकों, सिग्नल पर नागरिकों, पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल भरने और गैस सिलेंडर लेने गए लोगों को और सब्जी विक्रेताओं को मिठाई खिलाकर पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का गांधीगिरी तरीके से विरोध किया। इस अनूठे आंदोलन के जरिए लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया गया। इस दौरान कई नागरिकों ने नाराजगी भरी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उनकी प्रतिक्रियाओं के माध्यम से सरकार के प्रति असंतोष प्रदर्शित हो रहा था।

    इस मौके पर, नागरिकों ने केंद्र और राज्य सरकार से ईंधन और घरेलू गैस की कीमतों में वृद्धि को वापस लेने की अपील की। इस आंदोलन का समापन करते हुए संगठन के अध्यक्ष सिद्दीक शेख ने कहा कि, कोरोना के कारण कई लोगों पर बेरोजगारी की कुल्हाड़ी गिरी है। साथ ही आम जनता अपने बच्चों की पढ़ाई और घर के मेडिकल खर्च को संतुलित करने में परेशान है। घर का खर्च चलाना मुश्किल हो जा रहा है। ऐसे में केंद्र और राज्य सरकारें अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले करों को कम कर ईंधन की दरों को कम करें और आम जनता को राहत प्रदान करें। शेख के नेतृत्व में किये गए इस आंदोलन में संगठन के पिंपरी चिंचवड कार्याध्यक्ष हमीद शेख, महिला शहराध्यक्ष राजश्री शिरवलकर, संगठक निर्मला डांगे, रियाज शेख आदि शामिल थे।