गुटखा हवाला रैकेट का पर्दाफाश, साढ़े 3 करोड़ की नकदी जब्त

  • 9 आरोपी पुलिस की हिरासत में; क्राइम ब्रांच यूनिट 4 की कामयाबी

पुणे। महाराष्ट्र में बिक्री, उत्पादन, स्टॉकिंग करने हेतु प्रतिबंधित किये गए गुटखे की अवैध खरीद-फरोख्त में हवाला रैकेट का पर्दाफाश हुआ है। पुणे पुलिस की क्राइम ब्रांच ने तीन जगहों पर छापेमारी में 9 लोगों को हिरासत में लिया है। उनके पास से हवाला के लेनदेन से जमा साढ़े तीन करोड़ रुपए की नकदी बरामद की गई है। इस पूरे रैकेट के मुख्य आरोपी तक पहुंचने की कोशिश में पुणे पुलिस जुट गई है।

पुणे पुलिस की क्राइम ब्रांच के यूनिट 4 की टीम को खराड़ी के एक दुकानदार के पास प्रतिबंधित गुटखा, पान मसाला, सुगंधित तंबाकू, केंद्र और राज्य सरकार का सीमाशुल्क बचाकर तस्करी के जरिए लायी गयी महंगी विदेशी ब्रांड की सिगरेट का स्टॉक रहने की जानकारी मिली। इसके अनुसार, 16 नवंबर को पुलिस टीम ने खराडी की एक दुकान पर छापा मारकर सुरेश मूलचंद अग्रवाल (54, निवासी साई एनक्‍लेव सोसाइटी, खराडी, पुणे) को हिरासत में लिया। 

अग्रवाल के पास से चार लाख रुपये का गुटखा, दो कार, एक दोपहिया व एक लाख 31 हजार रुपये की नकदी बरामद की गई। इस मामले की जांच के दौरान पुलिस को अग्रवाल से ट्रांसपोर्ट व्यवसायी नवनाथ नामदेव कालभोर का नाम पता चला, जो कि गुटखा आदि की सप्लाई करता था। उसे हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर पता चला कि गुटखा की अवैध खरीद-फरोख्त में दो मुख्य लोग हैं और वे हवाला के जरिए इस खरीद-फरोख्त के पैसों का लेनदेन करते हैं। साथ ही पुणे के मध्यवर्ती इलाके में गुटखा कारोबारियों के हवाला रैकेट की जानकारी भी उजागर हुई। 

इसके बाद परिमंडल एक की पुलिस उपायुक्त प्रियांका नारनवरे के मार्गदर्शन में पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की 5 टीमें गठित की गई। इन टीमों ने बुधवार की रातभर में शहर के अलग-अलग हिस्सों में एक साथ छापेमारी की। इस छापेमारी में तीन करोड़ 47 लाख 37 हजार 920 रुपये की नकदी समेत तीन करोड़ 52 लाख 74 हजार 490 रुपये का माल बरामद किया गया। इसके अलावा 9 मोबाइल, 2 डीवीआर, पैसे गिनने की 2 मशीनें, हवाला ट्रांजेक्शन के हिसाब किताब के रजिस्टर आदि भी जब्त किए गए। इस मामले में 9 लोगों को हिरासत में लिया गया है। मामले की जांच सहायक पुलिस निरीक्षक संदीप जमदाडे कर रहे हैं।