सावली निवारा केंद्र में बेघरों को मिला आसरा

  • ‘दीनदयाल उपाध्याय’ के नाम पर केंद्र की योजना पर अमल

पिंपरी. मार्केट प्लेस,  फुटपाथ आदि जगहों पर रहने वाले कई बेघर नागरिकों की पिंपरी-चिंचवड़ मनपा अब स्वयं गार्जियन होगी. ‘सावली बेघर निवारा केंद्र’ नाम से स्थापित होमलेस शेल्टर सेंटर में सभी प्रकार की सुख-सुविधाएं इन बेघरों के लिए मुहैया कराई जा रही हैं. इस वजह से बुजुर्गों के चेहरे पर हक के घर में रहने और जिंदगी की आखिरी सांस खुशी से लेने का संतोष नजर आ रहा है.

फुटपाथों पर जिंदगी की आखरी घड़ियां

शहर के बस स्टेशनों, रेलवे स्टेशनों, बाजार और फुटपाथों पर असहाय अवस्था में तथा जिंदगी की आखिरी घड़ियां गिनते हुए पड़े कई लोग अक्सर दिखाई देते थे. इस तस्वीर को बदलने के लिए केंद्र सरकार ने लोकल बॉडीज को ‘दीनदयाल उपाध्याय’ के नाम पर शहर में बेघर आश्रय केंद्र शुरू करने का निर्देश दिया है. इस पर पिंपरी मनपा ने अमल किया है. मनपा द्वारा शहरी बेघरों का सर्वे किया गया. इसके लिए सरकार की ओर से सर्वेक्षण संस्था नियुक्त की गई थी. इस संस्था द्वारा किए गए सर्वेक्षण में 154 बेघर लोग पाए गए हैं. पिंपरी मनपा के नियंत्रण में ‘रियल पीपल रियल लाइफ’ नामक सामाजिक संस्था पिंपरी के इस केंद्र को चला रही है.

मनपा के जरिए किया जाएगा सर्वेक्षण 

इस संबंध में केंद्र के संचालक एम.एम. हुसैन ने बताया कि ‘सावली बेघर निवारा केंद्र’ 10 अक्टूबर को शुरू हुआ और वर्तमान में यहां 10 अनाथ लोग रह रहे हैं. करीबी रिश्तेदार न होने वाले बेघर नागरिकों का सर्वेक्षण मनपा के जरिए किया जाएगा. पिंपरी स्थित कैम्प क्षेत्र में यह केंद्र शुरू किया गया है. बेघर लोगों के इस केंद्र में आने के बाद उनकी सेहत का ध्यान रखना पड़ता है. हर हफ्ते उनके स्वास्थ्य की जांच की जाती है. उन्हें सुबह में चाय व नाश्ता तथा दोपहर व शाम का भोजन दिया जा रहा है. इस केंद्र में 24 कमरे हैं तथा 110 बेड की व्यवस्था है. यहां आने वाले नागरिकों की देखभाल के लिए 8 कर्मियों को नियुक्त किया गया है.