खड़कवासला जलाशय सौंदर्यीकरण मामला: टेंडर प्रक्रिया में खामियां

– आपले पुणे संस्था का आरोप

पुणे. महाराष्ट्र कृष्णा खोरे विकास महामण्डल द्वारा खड़कवासला जलाशय परिसर में सौंदर्यीकरण करने का फैसला लिया गया है. उसके लिए रिक्वेस्ट ऑफ़ प्रपोज़ल के तहत टेंडर प्रक्रिया लागू की गई है, लेकिन इस प्रक्रिया में खामियां होने का आरोप आपले पुणे संस्था द्वारा लगाया गया है. साथ ही मांग की है कि इसको लेकर फिर से प्रक्रिया लागू करें.

रिसोर्ट निर्माण के लिए टेंडर : केसकर

इस बारे में आपले पुणे संस्था के उज्वल केसकर ने बताया कि महाराष्ट्र कृष्णा खोरे विकास महामण्डल द्वारा खड़कवासला जलाशय परिसर में सौंदर्यीकरण करने का फैसला लिया गया है. उसके लिए रिक्वेस्ट ऑफ़ प्रपोज़ल के तहत टेंडर प्रक्रिया लागू की गई है. 28 एकड़ पर यह काम करना है. इसके लिए विकासक ढूंढा जा रहा है, लेकिन इस प्रक्रिया के तहत यह प्रतीत हो रहा है कि सौंदर्यीकरण के नाम पर रिसॉर्ट का निर्माण किया जानेवाला हैं व उसका खर्चा इस प्रक्रिया से किया जानेवाला है. 

 दी जाय जानकारी 

केसकर के अनुसार  सौंदर्यीकरण को लेकर कोई स्पष्टता इस प्रक्रिया में नहीं है. जिस जगह पर रिसोर्ट बनाया जाएगा उसका नक्शा साथ ही उसका 7/12 भी नहीं है. महामण्डल के पास इस तरह का काम करने के अधिकार है क्या, इसकी जानकारी भी केसकर ने मांगी है. जगह का सरकार द्वारा क्या दर लगाया है, इसकी भी जानकारी हमें दी जाय. केसकर ने आगे कहा है कि इस प्रक्रिया में कई खामियां हैं. इस वजह से यह प्रक्रिया फिर से लागू करें.