Indian student living in UAE created her own kidnapping drama, she was found hidden on the roof of the house
Representative Image

    पुणे. पैसों के विवाद में दो युवकों का फिल्मी स्टाइल में अपहरण (Kidnapping) कर एक युवक के सिर पर बोतल से हमला करने की घटना पुणे (Pune)के सिंहगड रोड (Sinhgad Road) इलाके में हुई। इस मामले में सिंहगड रोड पुलिस (Police) ने तत्काल पीछा कर के आरोपी को पिंपरी चिंचवड़ (Pimpri Chinchwad) स्थित वाकड के भुमकर चौक (Bhumkar Chowk) से हिरासत में लिया और अपरहण हुए युवकों को सुरक्षित आजाद कराया। अपहरणकर्ताओं की ओर से 10 लाख रुपये की मांग की गई थी। गिरफ्तार आरोपियों में एक सीआरपीएफ के जवान का भी समावेश रहने की जानकारी वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक देविदास घेवारे ने दी।

    गिरफ्तार आरोपियों में अविनाश पांडुरंग पाटिल और उत्तम तुरंबेकर  शामिल है। इस मामले में निखिल उदय गुरव ने सिंहगड रोड पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। ये सब एक-दूसरे के पहचान के हैं। सोमवार शाम निखील अपना रूम लॉक कर रोड पर आया तभी उसने देखा कि उसके मित्र प्रभात तोडकर को अविनाश और उत्तम पीट रहे हैं। उसके पास अजित राऊत भी खड़ा था। निखिल ने जब इस बारे में पूछा तो कहा कि अविनाश ने उसे धक्का देकर कहा कि हमारे बीच में नहीं पड़ो, तुम्हारा इससे कोई संबंध नहीं।

    इसके बाद आरोपियों ने प्रभात से कहा कि संदीप कहां रहता है वहां हमें लेकर चलो। इस दौरान निखिल ने अजित राउत से पूछा कि ये क्या चल रहा है। तब उसने बताया कि अविनाश ने मुझे जान से मारने की धमकी देकर कोल्हापुर से पुणे बुलाया। पैसे की मांग करते हुए मारपीट की। इसके बाद प्रभात और अजित इन दोनों को जबरदस्ती स्कूटर पर बिठाकर नर्हे की दिशा में ले गया। इसके बाद प्रभात का शिकायतकर्ता निखिल को फोन आया कि उसके सिर पर बोतल से मारा है। संदीप को फोन कर पैसे देने के लिए कहो नहीं तो ये लोग मुझे जिंदा नहीं छोड़ेंगे। इस पर निखिल और संदिप ने पुलिस को जानकारी दी। इस घटना की जानकारी मिलते ही वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक देविदास घेवारे, पुलिस निरीक्षक प्रमोद वाघमारे के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक प्रशांत कणसे, पुलिस उपनिरीक्षक अमोल काले, नितीन जाधव, कुलदीप संकपाल,ए बी काले की टीम ने भुमकर पुल के पास जिंजर होटल के सामने जाल बिछाया। आरोपियों को शक हुआ तो वे भाग गए। हालांकि पुलिस ने पीछा कर उन्हें धर दबोचा।