Pic Credit: Google
Pic Credit: Google

    सोलापुर. फेसबुक-इन्स्टाग्राम (Facebook-Instagram) के बग (Bug) को सोलापुर जिले (Solapur District) के बार्शी के रहवासी मयूर फरताडे (Mayur Fartade) ने ढूंढ निकाला। मयूर ने फेसबुक और इंस्टाग्राम को इस बग के बारे में बताकर हैकर्स (Hackers) के हाथ में आने से बचाया। बदले में कंपनी ने उसे 22 लाख रुपये इनाम के तौर पर दिया।

    भारत में आईटी के नए नियमों पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और केंद्र सरकार के बीच विवाद शुरू है, लेकिन हम जिस फेसबुक और इन्स्टाग्राम को इस्तेमाल करते हैं वो हमारे लिए कितना सुरक्षित है ये हमे पता है क्या? दुनिया के कोने-कोने में आपराधिक प्रवृत्ति के हैकर्स बैठे हुए हैं। यह बात कोल्हापुर के तात्यासाहेब कोरे इंजीनियरिंग कॉलेज में कंप्यूटर साईंस की पढाई कर रहे बार्शी के मयूर फरतडे ने फेसबुक और इंस्टाग्राम को इस बग के बारे में बता कर हैकर्स के हाथों में आने से बचाया है। उसके बाद फेसबुक ने उसे 30 हजार डॉलर का इनाम भी दिया है, ऐसा मेल उसे भेजा गया है।

    कंपनी ने गलती को सुधार लिया

    मयूर फरताडे ने कई यूजर्स के डेटा को चोरों से बचाने में फेसबुक की मदद की है। इंस्टाग्राम का यह बग एकाध यूजर्स को इंस्टाग्राम पर टार्गेटेड मीडिया दिखाता था। मीडिया आईडी की मदद से प्राइवेट और आर्काइव किए पोस्ट, स्टोरी, रील और आईजीटीवी वीडियो देख सकता था। इसके लिए यूजर्स को फॉलो करना जरूरी नहीं था। फेसबुक और इंस्टाग्राम को खुद इसके बारे में जानकारी नहीं थी। मयूर ने फेसबुक के बग बाउंटी प्रोग्राम के माध्यम से इस कमी की जानकारी 16 अप्रैल को दी थी। कंपनी ने 1 जून तक इस गलती को सुधार लिया। बार्शी शहर के निवासी मयूर कम्प्यूटर साइंस का छात्र है। वह शिवाजी कॉलेज के पूर्व स्व. मधुकर फरताडे का भतीजा है।

    सिक्योरिटी रिसोर्सेज पार्टिसिपेट कर सकते हैं

    मयूर ने बताया कि कुछ नया सीखने के लिए अलग-अलग सिक्योरिटी रिसोर्स का लेखा और वाचन करता था। इसमे इन्स्टाग्राम पर बग ढूंढने का प्रोत्साहन मिला। दो सप्ताह में नया फीचर्स देख वेब और एंड्रॉयड एप पर टेस्ट कर रहा था। इसमे मुझे यह बग मिला। फेसबुक का बग बाउंटी प्रोह्राम है। इसमे सिक्योरिटी रिसोर्सेज पार्टिसिपेट कर सकते हैं। यहाँ जाकर मैंने यह बग रिपोर्ट किया।