Pachpande

पुणे. COVID-19 के प्रकोप से पूरा विश्व जूझ रहा हैं। लेकिन अब हमे इससे बचने और आगे निकलने के बारे में सोचना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए। हमे ऐसे समय की कल्पना करनी चाहिए जब हमे कोरोना से छुटकारा मिल जाएगा। अगर हम शिक्षा की बात करे तो आने वाले समय में चीज़े कैसे बदलेंगी और हमे किन बातों का ध्यान रखना होगा इसपर विचार करना चाहिए। इस बारे में आपके संशय को दूर करने और आपके विचारों को सही दिशा में ले जाने के लिए नवभारत ने नवभारत Vibes ‘सीरिज़ ऑफ़ वेबिनार्स’ कार्यक्रम के अंतर्गत एएसएम ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट में अध्यक्ष संदीप पाचपांडे को आमंत्रित किया हैं। जो आपको “कोरोना के बदलते परिदृश्य में शिक्षा के भविष्य” पर कुछ नई बातों से रूबरू करवाएंगे। वह नवभारत के फेसबुक पेज (https://www.facebook.com/enavabharat) से आज रात 8 बजे लाइव आपसे मुलाकात करेंगे।

एक शिक्षाविद, उद्यमी, रियल एस्टेट डेवलपर, टेक्नोप्रिन्योर, मेंटर, लेखक, मुख्य वक्ता, कृषक, और दूरदर्शी डॉ. संदीप पाचपांडे हर दिन एक बहुआयामी व्यापारिक समझ लाते हैं। इन्होने उद्योग के प्रदर्शन की ताकत के साथ संयुक्त रूप से शिक्षा के वैश्विक मानकों को प्रदान करने की दृष्टि सहित अपने अविभाज्य नेतृत्व के बल पर हजारों छात्रों के करियर का मार्गदर्शन किया है। डॉ. संदीप पाचपांडे ने हार्वर्ड बिजनेस स्कूल, बोस्टन, यूएसए से अपने वरिष्ठ कार्यकारी नेतृत्व कार्यक्रम (सीनियर एग्जीक्यूटिव लीडरशिप प्रोग्राम) को पूरा किया है और यह हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के पूर्व छात्र हैं। वह वर्तमान में केलॉग स्कूल ऑफ मैनेजमेंट में केलॉग एक्जीक्यूटिव स्कॉलर्स प्रोग्राम को आगे बढ़ा रहे हैं। इन्होने भारत के शीर्ष 10 विश्वविद्यालयों में से एक, पुणे विश्वविद्यालय से  पीएच.डी. की हैं साथ ही लीड्स मेट्रोपॉलिटन यूनिवर्सिटी, यूके से एमबीए टॉपर हैं।

वर्तमान में वह ऑडियोगिक शिक्षण मंडल (ASM) ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स, पुणे के अध्यक्ष हैं, जो केजी से पीएचडी स्तर तक गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने वाला एक प्रमुख शिक्षा ट्रस्ट है। डॉ. संदीप के कुशल नेतृत्व में संस्थानों का ASM समूह पुणे और मुंबई के 6 परिसरों में 15 संस्थानों में विकसित हुआ है और ASM में हर साल 5000 से अधिक छात्र पढ़ते हैं। डॉ. संदीप एक पीएच.डी. रिसर्च गाइड है और उन्हें अक्सर विश्वविद्यालयों, उद्योग और संघों द्वारा मुख्य भाषण देने, चेयर सेशन और शिक्षा के बारे में अपनी दृष्टि साझा करने के लिए आमंत्रित किया जाता है। इन्होंने विभिन्न असाइनमेंट, अध्ययन पर्यटन और प्रतिनिधिमंडल में 36 देशों की यात्रा की है और वह अपने विचारों, शब्दों और कर्मों से वास्तव में वैश्विक हैं।

शिक्षा के अलावा वह स्टार्टअप्स में निवेश करते है, साथ ही इनका सॉफ्टवेयर, बागवानी और रियल एस्टेट डेवलपमेंट का व्यवसाय है। उन्होंने कई विषयों पर कई किताबें लिखी हैं, “केस स्टडीज इन मैनेजमेंट”, “एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग (ERP)”, “डेटा माइनिंग एंड डेटा वेयरहाउसिंग”, “ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट” और “मार्केटिंग मैनेजमेंट”। डॉ. पाचपांडे कई दानशील संस्था, गैर सरकारी संगठन और सीएसआर संगठनों से भी जुड़े हुए हैं। शिक्षा से जुड़े अपने संदेह को दूर करने के लिए आज रात 8 बजे जरुर जुडिए नवभारत के साथ और मुलाकात कीजिए डॉ. संदीप पाचपांडे से।