crime

    पुणे. प्रेम संबन्ध में रोड़ा बने एक इंजीनियर (Engineer) को उसकी पत्नी (Wife) ने दूध में नींद की गोलियां (Sleeping Pills) देकर मार डाला। सोए हुए पति की गला घोंटकर हत्या (Murder) करने के मामले में उसकी पत्नी और प्रेमी को भी गिरफ्तार (Arrested) किया गया है। यह घटना पुणे के सासवड रोड, उरुली देवाची में घटी है। मृतक की पहचान मनोहर नामदेव हांडे (27) के रूप में हुई है। पत्नी अश्विनी मनोहर हांडे (19), प्रियकर गौरव संतोष सुतार (19) को पति की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

    पुलिस ने बताया कि मनोहर हांडे का 24 मई को अचानक निधन हो गया। पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही थी। इस बीच पता चला कि हांडे का अश्विनी के आरोपी गौरव के साथ अफेयर चल रहा था। ऑटोप्सी रिपोर्ट में कहा गया है कि मनोहर की मौत नींद की गोलियों के ओवरडोज के साथ-साथ गला घोंटने से हुई थी। पुलिस जांच में पता चला था कि अश्विनी का गौरव के साथ प्रेम संबंध था। उसका पति मनोहर उसके प्रेम प्रसंग में दखल दे रहा था, इसलिए उसने अपने प्रेमी के साथ साजिश रची। 

    पहले दी नींद की गोलियां, बाद में गला दबाकर की हत्या

    23 मई को गौरव उसके लिए नींद की गोलियां लेकर आया। फिर अश्विनी ने अपने पति को दूध में से नींद की गोलियां दीं। उसने पुलिस के सामने कबूल किया कि उन्होंने नींद में सोए मनोहर की गला दबाकर हत्या की है। मनोहर कोरोनरी हृदय रोग से पीड़ित थे और घर पर उनका इलाज चल रहा था। मनोहर अगले दिन नहीं उठा। अश्विनी ने बहाना किया कि उनके पति की मौत कोरोना से हुई है। इसलिए शुरू में पुलिस ने मामले में अचानक मौत की घटना दर्ज की थी। हालांकि बाद में सच्चाई सामने आ गई। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेंद्र मोकाशी और अपराध शाखा निरीक्षक सुभाष काले के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक राजू महानौर, उपनिरीक्षक केतन निंबालकर, नितिन गायकवाड़, शंकर नेवेसे, अमित सालुंके और श्रीनाथ जाधव ने इस वारदात की गुत्थी सुलझाने में अहम भूमिका निभाई।