murder of Tadipar Criminal, 6 accused arrested in one hour

    पिंपरी. पुरानी रंजिश में एक तड़ीपार बदमाश की निर्मम हत्या (Murder) की वारदात पिंपरी-चिंचवड़ (Pimpri-Chinchwad) के थेरगांव इलाके में सामने आयी है। वारदात के एक घंटे के भीतर वाकड पुलिस (Wakad Police) ने इस मामले में छह आरोपियों को पकड़कर सलाखों के पीछे डाल दिया है। अदालत में पेश करने पर उन्हें 11 जून तक पुलिस कस्टडी (Police Custody) में भेजने का आदेश दिए जाने की जानकारी पिंपरी-चिंचवड पुलिस कमिश्नर कृष्ण प्रकाश (Police Commissioner Krishna Prakash) ने एक संवाददाता सम्मेलन में दी। 

    6 जून को थेरगांव के 16 नंबर बस स्टॉप परिसर में हत्या की इस वारदात में मृतक का नाम पंकज अभिमन्यू धोत्रे (22) है। उसकी हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों में चेतन दिपक विटकर (26), निलेश जितेंद्र फडतरे (20), सुमित विजय हारले (19), प्रथमेश बालू शिंदे (19), मंथन सुधाकर चव्हाण (19) के अलावा एक किशोर उम्र के लड़के का समावेश है। 

    दोनों गुटों में रंजिश थी

    पुलिस कमिश्नर कृष्ण प्रकाश ने बताया कि दोनों गुटों में रंजिश थी, धोत्रे ने एक आरोपी चेतन विटकर को झगड़े में जान से मारने की धमकी दी थी। इसलिए उन्होंने उसे ही रास्ते से हटा दिया। वारदात के बाद वाकड पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरिक्षक डॉ. विवेक मुगलीकर ने आरोपियों की तलाश में तीन टीम गठित किए। पुलिस निरिक्षक संतोष पाटिल, पुलिस उपनिरिक्षक अभिजीत जाधव ने सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद आरोपियों की पहचान की। इसके बाद पुलिस टीम ने जाल बिछाकर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। 

    पूछताछ में आरोपियों ने गुनाह कबुला

    पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने वारदात स्वीकार कर ली। इस वारदात को सुलझाने में वाकड के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक डॉ.मुगलीकर, पुलिस निरीक्षक (क्राइम) संतोष पाटिल, सहायक निरीक्षक अभिजीत जाधव, अनिल लोहार, कर्मचारी विभीषण कन्हेरकर, बाबाजान इनामदार, बापूसाहेब धूमाल, राजेंद्र काले, दिपक भोसले, चंदु गिरे, विक्रम कुदल, प्रमोद कदम, सुरज सुतार, कौंतेय खराडे, कल्पेश पाटिल, सागर कोतवाल की टीम ने अहम भूमिका निभाई।