आधुनिक सुविधाओं के साथ जल्द स्थापित होगा नानाजी देशमुख अस्पताल

  •  स्थायी समिति के अध्यक्ष हेमंत रासने का भरोसा
  •  पुणे मनपा उठाएगी जंबो अस्पताल की पूरी जिम्मेदारी

पुणे.  आधुनिक सुविधाओं के साथ आम  पुणेकरों के लिए लगभग 1000 बेड्स से सुसज्जित नानाजी देशमुख अस्पताल की स्थापना जल्द की जाएगी. इसी तरह का प्रावधान पुणे मनपा के बजट में किया गया है. अस्पताल जल्द ही राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों से ऋण के रूप में धन लेकर पुणे के लोगों की सेवा में कार्यरत होगा. ऐसी जानकारी स्थायी समिति के अध्यक्ष हेमंत रासने ने दी. 

रासने ने कहा कि मनपा जंबो अस्पताल के बारे में अपनी जिम्मेदारी पूरी करेगा. पिछले 4 महीनों से मनपा द्वारा शहर में कोरोना नियंत्रण के लिए काम किया जा रहा है और इसपर काफी खर्च किया गया है. इसलिए, राज्य सरकार को वित्तीय सहायता प्रदान करनी चाहिए.

 स्थायी समिति के माध्यम से दी जाएगी निधि

उन्होंने कहा कि महापालिका पिछले 4 महीनों से शहर 250 से 300 करोड़ रुपये की लागत से कोरोना के नियंत्रण के लिए लगातार काम कर रही है. पुणे में कोरोना के रोगियों की संख्या अगस्त में 2 लाख को पार करने की आशंका है. इसी समय, गंभीर रोगियों को निजी और साथ ही सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त बेड तक नहीं मिल रहे हैं. जैसा कि जंबो अस्पताल केवल पुणे के लोगों के लिए है. मनपा अपना पूरा सहयोग देगा और आवश्यक धनराशि स्थायी समिति के माध्यम से प्रदान की जाएगी.

मनपा ने 250 करोड़ किए खर्च

हेमंत रासने ने कहा कि पुणे मनपा ने पहले ही 250 करोड़ से अधिक निधि खर्च की है. इसलिए महानगरपालिका को कोरोना पर लगाम लगाने तक अधिक खर्च करना होगा. इसके अलावा, लॉकडाउन के कारण, निगम की आय में भी कमी आई है. महानगरपालिका ने शहर में कोरोना नियंत्रण को लेकर निधि को नहीं रोका है. आगामी काल में भी मदद होगी. हालांकि निगम की वित्तीय स्थिति और कोरोना नियंत्रण के काम को देखते हुए, राज्य सरकार को वित्तीय सहायता प्रदान करनी चाहिए.