Helpline number implemented to help public, notify immediately when symptoms appear

पुणे का डबलिंग रेट 17.66 दिन!

– मनपा प्रशासन ने दी जानकारी

पुणे. शहर में कोरोना का फैलाव काफी तेजी से हो रहा है. साथ ही संक्रमितों की तादाद भी बढ़ती जा रही है. कई उपाय योजनाओं के बावजूद भी इस पर रोक पाना मुश्किल हो गया है.

 चिंता की बात यह थी कि पुणे का कोरोना संक्रमितों का डबलिंग रेट भी गिर गया था. 21 मई को यह रेट 14 दिनों का था. बाद में 26 मई को  सिर्फ 5 दिन हो गया था. डबलिंग रेट जितने ज्यादा दिन का उतना अच्छा होता है. इसके अनुसार हाल ही में यह रेट बढ़कर 20.77 दिन हो गया था, लेकिन फिर यह रेट कम होकर 17.66 दिनों पर आया है. साथ ही एक्टिव मरीजों की भी तादाद बढ़ती जा रही है.

15 हजार का आंकड़ा पार

ज्ञात हो कि शहर में कोरोना का कहर जारी है. दिन-ब-दिन कोरोना संक्रमितों की तादाद बढ़ती जा रही है. टेस्टिंग की तादाद बढ़ाई है. सभी सुविधा मुहैया की जा रही है. फिर भी कोरोना संक्रमितों की तादाद कम होने का नाम नहीं ले रही है. खास तौर से प्रतिबंधित क्षेत्र में इसका प्रकोप जारी है. शहर में अब 15 हजार  से अधिक केसेस हो गई है. जो चिंताजनक बात है. मनपा प्रशासन की मानो तो जुलाई आखिर तक यह तादाद 40 हजार से भी अधिक होगी. मनपा प्रशासन के अनुसार हाल ही में संक्रमितों की तादाद कम होती जा रही थी, लेकिन अब फिर यह तादाद बढ़ती जा रही है. इससे मनपा प्रशासन भी परेशान हैं.

हाल ही में बढ़ गया था दर

कई उपाय योजनाओं के बावजूद भी इस पर रोक पाना मुश्किल हो गया है. चिंता की बात यह थी कि पुणे का कोरोना संक्रमितों का डबलिंग रेट भी गिर गया था. 21 मई को यह रेट 14 दिनों का था. जो 26 तारीख को सिर्फ 5 दिन हो गया था. डबलिंग रेट जितने ज्यादा दिन का उतना अच्छा होता है. 16 अप्रैल को डबलिंग रेट 5 दिन का था. धीरे धीरे वह बढ़ गया. 24 अप्रैल को यह दर 8 दिन का हो गया. 7 मई को 13 दिन व 21 मई को 14 दिन का हो गया. उस वक्त शहर में कोरोना संक्रमितों की तादाद 4107 थी, लेकिन 21 मई से यह तादाद बढ़ गई व डबलिंग रेट भी कम हुआ था. 26 मई को संक्रमितों की तादाद 5427 हुई थी तो डबलिंग रेट 5 दिनों पर आया था. इससे चिंता का माहौल बना हुआ था, लेकिन 2 जून से यह रेट बढ़ रहा था.  22 जून तक यह रेट बढ़कर 20.77 दिनों पर आया था. यह अच्छी बात मानी जा रही थी. लेकिन फिर यह रेट कम होकर 17.66 दिनों पर आया है. साथ ही एक्टिव मरीजों की भी तादाद बढ़ती जा रही है. वर्तमान में शहर में 5792 एक्टिव केसेस हैं.