NCP MP Supriya Sule appeals to restore restaurant business in Maharashtra

    पुणे. प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आज सुबह पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) और उनके करीबियों के घर पर छापेमारी की। इस कार्रवाई से देशमुख की मुश्किलें बढ़ने की संभावना है। इस मुद्दे पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) की सांसद सुप्रिया सुले (MP Supriya Sule) ने भाजपा (BJP) पर निशाना साधा है। पुणे में मीडिया से की गई बातचीत में सांसद सुप्रिया सुले ने कहा कि मैंने अब तक वैचारिक राजनीति देखी है, लेकिन यह पहली बार है जब बदला लेने के लिए किसी एजेंसी का गलत इस्तेमाल होते देख रही हूं।

    राज्य में इस समय महामारी कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है। इस बीमारी के घातक संक्रमण की वजह से कई समस्याएं सामने आ रही है। उसी में विशेषज्ञों ने तीसरी लहर की आशंका जताई है। उससे निपटने के काम में सरकार, सभी मंत्री, नेता, अधिकारी, विधायक, सांसद लगे हैं। सुप्रिया सुले ने कहा कि हमारे पास विपक्ष की तरह बदले की राजनीति करने का समय नहीं है। इतना ही नहीं, जब प्रदेश में कोरोना, स्वास्थ्य व्यवस्था और बेरोजगारी जैसे संकट है तो विपक्ष का ऐसा करना दुर्भाग्यपूर्ण है, ऐसा सुप्रिया सुले ने कहा।

    भाजपा पर लगाए गंभीर आरोप

    पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर ईडी के छापे के बारे में पूछे जाने पर यह विपक्ष द्वारा जानबूझकर किया जा रहा है। मैंने अब तक विचारों की राजनीति देखी है। सुप्रिया सुले ने कहा है कि उन्होंने कभी विपक्ष के खिलाफ राजनीति के लिए एजेंसी का दुरुपयोग होते नहीं देखा। उन्होंने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पवार साहब को ईडी की ओर से भी नोटिस मिली थी। पवार साहब ने वैचारिक राजनीति तो की, लेकिन सत्ता का दुरुपयोग कर विपक्ष को कभी नुकसान नहीं पहुंचाया। इसके लिए किसी जांच तंत्र का इस्तेमाल नहीं किया गया। हालांकि अनिल देशमुख के साथ ऐसा ही हुआ है। उनके साथ ऐसा जानबूझकर किया जा रहा है, लेकिन ठीक है हम लड़ेंगे।